For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")


मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi"
  • 42, Male
  • Ballia,U.P & Patna,Bihar
  • India
Share

Er. Ganesh Jee "Bagi"'s Friends

  • surjeet singh nagpal
  • सुरेन्द्र नाथ सिंह 'कुशक्षत्रप'
  • बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
  • MUZAFFAR IQBAL SIDDIQUI
  • Arpana Sharma
  • सतविन्द्र कुमार राणा
  • VINOD GUPTA
  • Pankaj Kumar Mishra "Vatsyayan"
  • Dr. (Mrs) Niraj Sharma
  • MAROOF KHAN
  • Vinit Srivastava
  • jaan' gorakhpuri
  • डिम्पल गौड़ 'अनन्या'
  • Abha saxena
  • pratibha tripathi

Er. Ganesh Jee "Bagi"'s Discussions

ग्रीष्म सत्र 2015 हेतु ओपन बुक्स ऑनलाइन प्रबंधन टीम व कार्यकारिणी टीम का पुर्नगठन...
52 Replies

प्रिय ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के सदस्यो, बड़े ही हर्ष के साथ कहना है कि ओपन बुक्स ऑनलाइन के बेहतर संचालन हेतु "ग्रीष्म सत्र 2015" के लिए पुर्नगठित "ओपन बुक्स ऑनलाइन प्रबंधन टीम" तथा "ओपन बुक्स ऑनलाइन सदस्य कार्यकारिणी" प्रभावी हो गई है |साथियो, जहाँ…Continue

Started this discussion. Last reply by Manoj kumar Ahsaas Feb 8, 2016.

शरद सत्र 2014-15 हेतु ओपन बुक्स ऑनलाइन प्रबंधन टीम व कार्यकारिणी टीम का पुर्नगठन...
22 Replies

प्रिय ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के सदस्यो, बड़े ही हर्ष के साथ कहना है कि ओपन बुक्स ऑनलाइन के बेहतर संचालन हेतु "शरद सत्र" के लिए पुर्नगठित "ओपन बुक्स ऑनलाइन प्रबंधन टीम" तथा "ओपन बुक्स ऑनलाइन सदस्य कार्यकारिणी" प्रभावी हो गई है |साथियो, जहाँ "ओ बी ओ…Continue

Started this discussion. Last reply by Madanlal Shrimali Apr 10, 2015.

ग्रीष्म सत्र -2014 हेतु ओपन बुक्स ऑनलाइन प्रबंधन टीम व कार्यकारिणी टीम का पुर्नगठन...
49 Replies

प्रिय ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के सदस्यो, बड़े ही हर्ष के साथ कहना है कि ओपन बुक्स ऑनलाइन के बेहतर संचालन हेतु "ग्रीष्म सत्र" के लिए पुर्नगठित "ओपन बुक्स ऑनलाइन प्रबंधन टीम" तथा "ओपन बुक्स ऑनलाइन सदस्य कार्यकारिणी" प्रभावी हो गई है |साथियो, जहाँ "ओ…Continue

Started this discussion. Last reply by Sushil Sarna May 22, 2014.

ओबीओ लाइव महोत्सव अंक-37 की सभी रचनाएँ एक साथ
24 Replies

आदरणीय सुधीजनो, 15 नवम्बर 2013 को सम्पन्न हुए ओबीओ लाइव महा-उत्सव के अंक-37 की समस्त स्वीकृत रचनाएँ संकलित कर ली गयी हैं. सद्यः समाप्त हुए इस आयोजन हेतु आमंत्रित रचनाओं के लिए शीर्षक “हम आजाद हैं !!” था.यथासम्भव ध्यान रखा गया है कि इस पूर्णतः सफल…Continue

Started this discussion. Last reply by अरुण कुमार निगम Nov 18, 2013.

शरद सत्र -2013-14 हेतु ओपन बुक्स ऑनलाइन प्रबंधन टीम व कार्यकारिणी टीम का पुर्नगठन...
149 Replies

प्रिय ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के सदस्यो ! यथोचित अभिवादन । बड़े ही हर्ष के साथ कहना है कि ओपन बुक्स ऑनलाइन के बेहतर संचालन हेतु आज दिनांक 01 अक्टूबर 2013 से "शरद सत्र" के लिए पुर्नगठित "ओपन बुक्स ऑनलाइन प्रबंधन टीम" तथा "ओपन बुक्स ऑनलाइन सदस्य…Continue

Started this discussion. Last reply by ram shiromani pathak Oct 22, 2013.

ग्रीष्म सत्र -2013 हेतु ओपन बुक्स ऑनलाइन प्रबंधन टीम व कार्यकारिणी टीम का पुर्नगठन...
29 Replies

प्रिय ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के सदस्यो ! यथोचित अभिवादन ।आज आपका ओ बी ओ परिवार चौथे वर्ष में प्रवेश कर गया है । बड़े ही हर्ष के साथ कहना है कि ओपन बुक्स ऑनलाइन के बेहतर संचालन हेतु आज दिनांक 01 अप्रैल 2013 से "ग्रीष्म सत्र" के लिए पुर्नगठित "ओपन…Continue

Started this discussion. Last reply by Pankaj Trivedi May 5, 2013.

नववर्ष 2013 घोषणा - 3
18 Replies

नववर्ष 2013 घोषणा - 3साथियों, जैसा कि आप सब जानतें ही हैं, ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार सदैव साहित्य लेखन को प्रोत्साहित करता रहा है, "महीने का सक्रिय सदस्य" पुरस्कार राशि रुo 1100/- तथा "माह की सर्वश्रेष्ठ रचना" पुरस्कार राशि रुo 551/- (जोकि जनवरी 2013…Continue

Started this discussion. Last reply by MAHIMA SHREE Dec 27, 2012.

नववर्ष 2013 घोषणा - 2
2 Replies

ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के सभी सदस्यों को सूचित करना है कि ओ बी ओ पर प्रत्येक माह आयोजित होने वाली "चित्र से काव्य तक प्रतियोगिता" में नव वर्ष 2013 जनवरी माह से निम्नलिखित संशोधन किये गये है।(1) इस आयोजन में प्रतियोगिता बंद कर दी गई है, फलस्वरूप…Continue

Started this discussion. Last reply by aashukavi neeraj awasthi Dec 23, 2012.

नववर्ष 2013 घोषणा - 1
15 Replies

नववर्ष 2013 घोषणा - 1ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के सभी सदस्यों को सूचित किया जाता है कि प्रत्येक माह दिए जाने वाले "महीने की सर्वश्रेष्ठ रचना" पुरस्कार में नववर्ष 2013 जनवरी माह से निम्नलिखित संशोधन किया जा रहा है (जनवरी -13 हेतु रचना का चयन दिसंबर-12…Continue

Started this discussion. Last reply by Dr.Vijay Prakash Sharma Jun 15, 2014.

शरद सत्र -१२-१३ हेतु ओपन बुक्स ऑनलाइन प्रबंधन टीम व पुर्नगठित कार्यकारिणी का कार्यकाल आज से प्रारंभ...
25 Replies

प्रिय ओपन बुक्स परिवार के सदस्यो ! यथोचित अभिवादन, बड़े ही हर्ष के साथ कहना है कि ओपन बुक्स ऑनलाइन के बेहतर संचालन हेतु आज दिनांक १ अक्टूबर-१२ से "शरद सत्र" के लिए "ओपन बुक्स ऑनलाइन प्रबंधन टीम"  तथा "ओपन बुक्स ऑनलाइन सदस्य कार्यकारिणी" प्रभावी हो…Continue

Started this discussion. Last reply by Dr.Prachi Singh Oct 4, 2012.

 

Er. Ganesh Jee "Bagi"'s Page

                     मैं गणेश जी, पिता का नाम श्री मुराली प्रसाद, पटना बिहार में रहता हूँ | मेरा जन्म उत्तर प्रदेश के एक छोटे किन्तु ऐतिहासिक जिला बलिया में हुआ है, प्रारंभिक शिक्षा कक्षा ५ तक श्री जटहा बाबा आदर्श माध्यमिक विद्यालय से प्राप्त की, कक्षा ६ से १२ तक की शिक्षा बलिया के प्रतिष्ठित राजकीय इंटरमिडीएट कालेज से प्राप्त करने के पश्चात टाउन पालीटेकनिक बलिया से सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा १९९६ में ग्रहण करने के उपरांत मेरा चयन बिहार लोक सेवा आयोग पटना द्वारा अवर अभियंता (Junior Engineer) पद हेतु हुआ और १९९९ में मैं पथ निर्माण विभाग, बिहार, पटना में नियुक्त हुआ | सेवा में रहते हुए ही मैंने सिविल इंजीनियरिंग में अभियांत्रिक स्नातक डिग्री (AMIE) प्रतिष्ठित The Institution of Engineers (India) द्वारा प्राप्त की | पुनः मेरा चयन बिहार लोक सेवा आयोग पटना द्वारा सहायक अभियंता (Assistant Engineer) पद हेतु हुआ और २०१४ में मैं पथ निर्माण विभाग, बिहार, पटना में नियुक्त होकर बिहार राज्य पुल निर्माण निगम लिमिटेड, पटना में योजना अभियंता (Planning Engineer) के रूप में पदस्थापित हुआ |
                      साहित्य में मेरी रूचि बचपन से ही थी किन्तु माहौल की कमी, समयाभाव या कहे जिम्मेदारियों के अत्यधिक बोझ के कारण कुछ खास नहीं कर सका, इधर विगत कुछ वर्षो से मैंने भोजपुरी और हिंदी में लेखन प्रारंभ किया, साथियों ने मेरे स्वभाव और मंगल पाण्डे की धरती से जुड़े होने के कारण "बागी" उपनाम से अलंकृत कर दिया और गोबर गणेश से गणेश जी "बागी" बन गया |

                      अच्छे साहित्यिक मंच के अभाव ने मुझे ओपन बुक्स ऑनलाइन तैयार करने हेतु प्रेरित किया और आज मैं 2500 से अधिक सदस्यों के परिवार के बीच अपने आप को पाकर उत्साहित महसूस करता हूँ |
गणेश जी "बागी"

संस्थापक सह मुख्य प्रबंधक

ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार

Er. Ganesh Jee "Bagi"'s Blog

Profile Information

Gender
Male
City State
Patna / Bihar
Native Place
Mahabir Ghat, Ballia (U.P.)
Profession
Civil Engineer
About me
I am a simple Indian.

भोजपुरी साहित्य

Loading… Loading feed

Latest Activity

Ram Awadh VIshwakarma commented on Er. Ganesh Jee "Bagi"'s blog post ग़ज़ल (गणेश जी बागी)
"आदर्णीय समर कबीर साहब आपका बहुत बहुत शुक्रिया तनाफुर पर विस्तृत जानकारी देने के लिये।"
yesterday
TEJ VEER SINGH commented on Er. Ganesh Jee "Bagi"'s blog post ग़ज़ल (गणेश जी बागी)
"हार्दिक बधाई आदरणीय गणेश जी बागी जी। लाज़वाब गज़ल।"
yesterday
Samar kabeer commented on Er. Ganesh Jee "Bagi"'s blog post ग़ज़ल (गणेश जी बागी)
"जनाब राम अवध जी आदाब,ऐब-ए-तनाफ़ुर उसे कहते हैं कि जिस अक्षर पर जुमला ख़त्म हो रहा है,उसी अक्षर से अगला जुमला शुरू हो,जैसे 'हम मर गये' इसमें 'हम' का आख़री अक्षर 'म' है, और 'मर' का पहला अक्षर भी 'म' है,…"
yesterday
Ram Awadh VIshwakarma commented on Er. Ganesh Jee "Bagi"'s blog post ग़ज़ल (गणेश जी बागी)
"आदर्णीय समर कबीर साहब ऐबे तनाफुर पर मेरा मार्गदर्शन करने की कृपा करें। इसी मंच पर एक महान शायर का तरही मिसरा दिया गया था। दुनिया ये बदलने वाली है किस चीज पे तू इतराता है। आदर्णीय क्या इस मिसरे में तनाफुर का ऐब नहीं है यदि है तो क्या ये जायज…"
Saturday
Samar kabeer commented on Er. Ganesh Jee "Bagi"'s blog post ग़ज़ल (गणेश जी बागी)
"जनाब गणेश जी "बाग़ी" साहिब आदाब,अच्छी ग़ज़ल है, बधाई स्वीकार करें । 'बात चलेगी, तब बोलेंगे,अपनी ही थी ग़लती बाबू' इस मिसरे में ऐब-ए-तनाफ़ुर देखें 'तब बोलेंगे',मिसरा यूँ कर लें तो ऐब निकल जायेगा:- 'बात चली तो,हम…"
Friday

मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi" commented on Admin's page FAQ
"आदरणीया बबिता जी, समय आधारित कार्यक्रम निर्धारित समय से खुलता और बंद होता है अर्थात यदि कार्यक्रम 30-31 को निर्धारित है तो 29 को रात्रि 12 बजने के तुरंत बाद 30 लगते ही कार्यक्रम को रचना और टिप्पणियों के लिए खोल दिया जाता है । उसी प्रकार 31 को रात्रि…"
Thursday
राज लाली बटाला commented on Er. Ganesh Jee "Bagi"'s blog post ग़ज़ल (गणेश जी बागी)
"आज की सियासत पर जबरदस्त प्रहार किया है आद गणेश जी बहुत खूब"
Thursday
Sheikh Shahzad Usmani commented on Er. Ganesh Jee "Bagi"'s blog post ग़ज़ल (गणेश जी बागी)
"देश के पीड़ित वर्गों और नकारात्मक राजनीति पर रौशनी डालती बेहतरीन ग़ज़ल के लिए तहे दिल से बहुत-बहुत मुबारकबाद और आभार आदरणीय इंजी. गणेश जी 'बागी' साहिब। "
Wednesday
लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' commented on Er. Ganesh Jee "Bagi"'s blog post ग़ज़ल (गणेश जी बागी)
"आ. बागी जी, सुंदर गजल हुई है । हार्दिक बधाई । "
Wednesday
Shyam Narain Verma commented on Er. Ganesh Jee "Bagi"'s blog post ग़ज़ल (गणेश जी बागी)
"वाह बेहद खूबसूरत प्रस्तुति … हार्दिक बधाई स्वीकार करें आदरणीय।"
Wednesday
Ram Awadh VIshwakarma commented on Er. Ganesh Jee "Bagi"'s blog post ग़ज़ल (गणेश जी बागी)
"आदरणीय सत्ताधीशों द्वारा ठगी गई भोलीभाली जनता का दुख दर्द बयान करती हुई सार्थक ग़ज़ल कहने के लिये हार्दिक बधाई।"
Tuesday
Nand Kumar Sanmukhani commented on Er. Ganesh Jee "Bagi"'s blog post ग़ज़ल (गणेश जी बागी)
"पांच बरस के बाद भी बेचारी जनता कहां कुछ बोल-समझ पाती है। कुर्सी के खिलाड़ी ऐसे-ऐसे स्वांग रचते हैं, ऐसे-ऐसे खेल तमाशे दिखाकर मतिभ्रम का वातावरण पैदा कर देते हैं कि कोई कुशल से कुशल अभिनेता भी क्या दिखा पाएगा। बेचारी भोली-भाली जनता इनके मदारीनुमा…"
Tuesday
Nilesh Shevgaonkar commented on Er. Ganesh Jee "Bagi"'s blog post ग़ज़ल (गणेश जी बागी)
"आ. बाग़ी जी,ग़ज़ल के लिए बधाई... जिसके लिए कही है वो भी हम-काफिया है ;)))))) ....................दी बाबू बधाई "
Tuesday
Mohammed Arif commented on Er. Ganesh Jee "Bagi"'s blog post ग़ज़ल (गणेश जी बागी)
"आदरणीय गणेश जी आदाब, नवोदित सत्ता से काफी उम्मीदें थी मगर यह भी झूठी साबित होती नज़र आ रही है । महंगाई रोकने में बिल्कुल नाकारा सिद्ध हो गई है । हरदिन नया विज़न लाती है और मीठे-मीठे स्वप्न दिखलाती है । सत्ता के प्रति गहरी टीस पूरी ग़ज़ल में देखी जा सकती…"
Tuesday

सदस्य कार्यकारिणी
rajesh kumari commented on Er. Ganesh Jee "Bagi"'s blog post ग़ज़ल (गणेश जी बागी)
"वाह्ह्ह्ह वाह्ह्ह्ह कमाल के तंज और एक बेहतरीन ग़ज़ल साहब  पिछले दिनों ज्यादा मसरूफ़ियत की वजह से पोस्ट पर आना नहीं हो सका माफ़ कीजिये  पूरी चर्चा पढ़ी तो सब समझ आया अरकान वाली बात मैंने भी दोहरा दी . खैर इस ग़ज़ल के सभी शेर खंजर की तरह…"
Tuesday

सदस्य कार्यकारिणी
rajesh kumari commented on Er. Ganesh Jee "Bagi"'s blog post ग़ज़ल (गणेश जी बागी)
"मेरी ग़ज़ल पर कई बार एसी प्रतिक्रिया आई तो मैं समझी ये नियम ही होगा .खैर नवलेखकों को समझने में आसानी होगी इस दृष्टि से ये बात सही भी है मैं तो आपकी बह्र समझ गई किन्तु जो सीखने की कतार में हैं उनके लिए थोड़ा मुश्किल होगा .एक अच्छी ग़ज़ल के लिए पुनः बधाई…"
Tuesday

मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi" commented on Er. Ganesh Jee "Bagi"'s blog post ग़ज़ल (गणेश जी बागी)
"ग़ज़ल की सराहना हेतु आभार आदरणीया राजेश कुमारी जी, मेरी पिछली ग़ज़ल पर अरकान लिखने के बाबत बहुत बात हुई, मुझे समझ नही आता कि यह नियम कहाँ लिखा है, जो नियम है सभी "नियम" टैब के अंतर्गत लिखित है ।"
Tuesday

सदस्य कार्यकारिणी
rajesh kumari commented on Er. Ganesh Jee "Bagi"'s blog post ग़ज़ल (गणेश जी बागी)
"आज की सियासत पर जबरदस्त प्रहार किया है आद गणेश जी बहुत खूब .बधाई आपको  आपने नियम के अनुसार ग़ज़ल के अरकान नहीं लिखे आदरणीय "
Tuesday

मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi" posted a blog post

ग़ज़ल (गणेश जी बागी)

पाँच बरस तक कुछ न कहेंगे कर लो अपने मन की बाबू । बात चलेगी, तब बोलेंगे, अपनी ही थी गलती बाबू ।।चाँद-चाँदनी, सागर-पर्वत, चाहत कहाँ किसानों की है ? मुमकिन हो तो इनके हिस्से लिख दो थोड़ी बदली बाबू ।।खाली थाली, खाली तसला, टूटा छप्पर, चूल्हा गीला, रोजी-रोटी बन्द पड़ी जब, क्या करना जन-धन की बाबू ।।जो काशी बन जाए क्योटो, या दिल्ली हो जाए लंदन । प्यासा जन बस जल पा जाये, गाँव लगे शंघाई बाबू ।।अच्छे-दिन, काले-धन की बातें, जुमलें हैं जुमलों की क्या ? "बाग़ी" भी अब समझ रहा है लेते हो तुम फिरकी बाबू ।।(मौलिक…See More
Tuesday

मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi" commented on Er. Ganesh Jee "Bagi"'s blog post ग़ज़ल (गणेश जी बागी)
"सराहना हेतु आभार आदरणीय लक्ष्मण भाई ।"
Tuesday

Er. Ganesh Jee "Bagi"'s Photos

  • Add Photos
  • View All

Er. Ganesh Jee "Bagi"'s Videos

  • Add Videos
  • View All

Comment Wall (270 comments)

You need to be a member of Open Books Online to add comments!

Join Open Books Online

At 10:10pm on November 15, 2017, Sushil Kumar Verma said…
आदरणीय बागी सर जी
बधाई हो
आपकी पुस्तक की एक प्रति मुझे भी चाहिए!!
सुशील कुमार वर्मा
पता:- गोरखपुर Whatsapp मोन:- 7571988131
At 11:22am on September 13, 2017, सुरेश कुमार 'कल्याण' said…
आदरणीय गणेश जी बागी सर सादर नमस्कार! अभी तक मेरा प्रशस्ति पत्र मुझे प्राप्त नहीं हुआ है। कृपया पहुँचाकर कृतार्थ करें। धन्यवाद।
At 5:39pm on December 15, 2016, Sushil Sarna said…

आदरणीय बागी सर सादर प्रणाम। ...लगभग ४ माह के लम्बे अंतराल के बाद भी हमें सर्वश्रेष्ठ रचना का प्रशस्ति पत्र प्राप्त नहीं हुआ। और कितना इंतज़ार करना पड़ेगा इस सम्मान पत्र के लिए। प्लीज़ इसे अब तो भिजवा दीजिये। सादर ...

सुशील सरना

At 5:02pm on December 15, 2016, सुरेन्द्र नाथ सिंह 'कुशक्षत्रप' said…
आदरणीय बागी जी सादर आभिवादन,

मुझे अपने गजल को महीने की सर्वश्रेष्ट गजल होने सम्बन्धी प्रमाणपत्र अभी तक नहीं मिला है, कृपया इसे उपलब्ध कराएँ। सादर
At 2:37pm on August 18, 2016,
AMOM
Abha saxena
said…

आदरणीय श्री गणेश बागी जी  सादर नमस्कार ,मुझे इस माह का सक्रिय सदस्य घोषित करने के लिए मैं आपकी ह्रदय तल से आपकी  आभारी हूँ. ...आपके द्वारा दिए गए इस सम्मान को मैं नतमस्तक हो कर स्वीकार करती हूँ ..नमन आपको  तथा ओ बी ओ परिवार को 

मेरा स्थाई पता इस प्रकार है 

आभा सक्सेना 

द्वारा / डॉ एम. पी. सक्सेना 

१७, तेग बहादुर रोड 1

देहरादून (उत्तराखंड )

२४८००१ 

At 8:47am on July 17, 2016, Kalipad Prasad Mandal said…

आदरणीय श्री गणेश बागी जी ,सादर  नमस्कार | ओ बी ओ में  मुझे बहुत कुछ सीखने को मिला  है | ज्ञान का भण्डार है ओ बी ओ | इस मंच द्वारा दिया गया कोई भी सम्मान मैं विनम्रता से स्वीकार करता हूँ | आपको और ओ बी ओ को हार्दिक  धन्यवाद देता हूँ इस सम्मान के लिए |

मेरा वर्तमान पता है निम्नलिखित है :-

कालीपद प्रसाद मण्डल 

क/ओ -- श्रीराम जैसवाल 

फ्लैट नॉ . सी ४०३ 

ज्योति मीडस ,व्हाइट फील्ड 

कोंडापुर , तेलंगना 

पिन -५०००८४ 

मोब : ०९६५७९२७९३१ 

Delete Comment

At 8:34am on June 20, 2016, सुरेश कुमार 'कल्याण' said…
आदरणीय श्री गणेश जी बागी साहब सप्रेम नमस्कार। ओबीओ के मंच पर मुझे सम्मानित करने के लिए हार्दिक धन्यवाद।आशा करता हूं कि भविष्य में भी मेरा मार्गदर्शन करते रहें । मैंने आपके कहे अनुसार अपना पता आदरणीय एडमिन साहब को प्रेषित कर दिया है जोकि इस प्रकार है
सुरेश कुमार ' कल्याण '
सुपुत्र श्री ओमप्रकाश
दासू पट्टी, गांव व डाक भाना
जिला कैथल (हरियाणा )-136043
मोबाइल - 9996197713
At 6:04pm on May 3, 2016, Sushil Sarna said…

आदरणीय जी नमस्कार सर हमें सक्रिय घोषित करने के बाद अब प्रथम के बाद दूसरी घोषणा भी होने वाली है सर अब तो हमारा बहुप्रतीक्षित प्रशस्ति पत्र प्रेषित करवा कर हमारी प्रतीक्षा को पूर्णविराम दो ... हा हा हा। कृपया बुरा न माने सर। ये हमारे इस सफर के लिए मील का पत्थर है।

प्रतीक्षारत -सुशील सरना
4 /62 , मालवीय नगर
जयपुर-302017 (राजस्थान)
9269296121

At 8:08am on April 18, 2016, amod shrivastav (bindouri) said…
शुक्रिया सर amom चयन के लिए
At 1:08pm on April 17, 2016, Sushil Sarna said…

आदरणीय बागी सर सादर प्रणाम , सर ओ बी ओ द्वारा प्रस्तावित सक्रिय सदस्य का प्रशस्ति पत्र अभी तक प्राप्त नहीं हुआ। कृपया प्रेषित कर अनुग्रहित करें। सदर।

सुशील सरना
४/६२ , मालवीय नगर ,
जयपुर - ३०२०१७

At 1:38pm on April 4, 2016, Sushil Sarna said…

आदरणीय श्री गणेश जी बागी सर आपके द्वारा मेरे मित्रता आग्रह को स्वीकृति देने का हार्दिक आभार।

At 2:52pm on March 23, 2016, Sushil Sarna said…

आदरणीय बागी सर मैंने आज प्रशस्ति पत्र हेतु अपने एड्रेस ओ बी ओ एडमिन को मेल कर दिया है। जो निम्र प्रकार से है। इस हेतु आपका पुनः हार्दिक धन्यवाद। 

आदरणीय  बागी सर , 

ओ बी ओ, एडमिन

उपरोक्त विषयान्तर्गत  मैं आपको अपना पता प्रेषित कर रहा हूँ  :

सुशील सरना 

4/62 , मालवीया नगर,

जयपुर -302017 (राजस्थान)

मो. 09269296121 

sarnasushil@yahoo.com

इस हेतु आपका और पूरे प्रबंधन मंडल का हार्दिक धन्यवाद। 

At 7:05am on March 20, 2016, सतविन्द्र कुमार राणा said…
आदरणीय सर
सादर वन्दे!
सम्बन्धित प्रशस्ति पत्र अभी तक नहीं मिला है।
सादर
At 7:32pm on March 16, 2016, केवल प्रसाद 'सत्यम' said…

आ० गणेश जी "बागी, संस्थापक सह मुख्य प्रबंधक, ओपन बुक्स ऑनलाइन ...मेरी कविता "अच्छे दिन !" को "महीने की सर्वश्रेष्ठ रचना" के रूप में सम्मानित किये जाने मुझे हार्दिक प्रसन्नता हुई. इस विशिष्ट उपलब्धि के लिये मैं आकण्ठ अभिभूत हूं. इस खुशी के अवसर पर आपको तथा ओ०बी०ओ० के समस्त प्रबंध समिति का तहेदिल से शुक्रिया, आभार प्रकट करता हूं. सादर

At 10:27pm on February 23, 2016, Ganga Dhar Sharma 'Hindustan' said…
आदरणीय गणेश जी बागी साहब, तस्दीक़ भाई स्वयं आफ़ताब हैं उनका ओ बी ओ परिवार से जोड़ने का श्रेय देकर शुक्रगुज़ार होना उनकी ज़र्रानवाज़ी है . तस्दीक़ भाई अपने समर्पण एवम् हुनर की बदौलत ही इस सम्मान के हक़दार बने हैं..मैं आपके मार्फ़त एक मर्तबा फिर उन्हें 'माह का सक्रिय सदस्य'चुने जाने पर हार्दिक बधाई देता हूँ...
At 3:59pm on February 17, 2016, Tasdiq Ahmed Khan said…

जनाब गणेश जी बागी   साहिब ,  आपने और ओ बी ओ प्रबंधन कमेटी  ने मुझे इस क़ाबिल समझा ,   इस भरोसे को बनाये रखने की पूरी कोशिश करूँगा ,   ओ बी ओ सदस्य श्री गंगाधर जी का शुक्रगुज़ार हूँ जिनकी बदौलत मैं ओ बी ओ से जुड़ा ,  सादर। ...    हौसला अफ़ज़ाई   का बहुत बहुत शुक्रिया , मेहरबानी 

At 3:09pm on February 17, 2016, Dr T R Sukul said…

आदरणीय इंजिनियर गणेशजी 'बागी 'जी,
सादर नमस्कार।
जनवरी 2016, माह के लिए मेरी कविता "कवच और कुण्डल" को 'ओपन बुक्स ओन लाइन ' के विद्वद् निर्णायक मंडल द्वारा सर्वश्रेष्ठ घोषित किये जाने की आश्चर्यजनक सूचना देने के लिए आपको कोटिशः धन्यवाद और विनम्र आभार।
आदरणीय निर्णायक मंडल के सभी सदस्यों के प्रति विनम्र आभार।
इसके लिए समस्त श्रेय मैं अपने इन दो मित्रों को देना चाहूँगा जिन्होंने कुछ माह पहले ही मुझे इस मंच से परिचय कराते हुए जुड़ने को प्रोत्साहित किया - वे हैं (१) आदरणीया कान्ता रॉय जी और (२) आदरणीय शेख शहजाद उस्मानी जी।
इन दोनों मित्रों को भी अनेकानेक धन्यवाद।
भवदीय ,
डॉ टी आर सुकुल ,
सागर मप्र।

At 8:29am on January 28, 2016, Janki wahie said…
आ.सर जी महीने की सर्वश्रेष्ठ कथा के रूप में मायरा का चयन करने हेतु मैं तहेदिल से आप सभीका शुक्रिया अदा करना चाहती हूँ ।मैने अपना फोन नम्बर और पत्राचार का पता भेज दिया है।नमन।
At 9:34am on October 16, 2015, Pankaj Kumar Mishra "Vatsyayan" said…
आदरणीय गणेश सर;
सादर अभिवादन।

ओबीओ परिवार का सक्रिय सदस्य चुने जाने पर गौरव की अनुभूति हो रही है। सम्पूर्ण परिवार को मेरा प्रणाम् निवेदित है।
At 3:11am on October 16, 2015, Sheikh Shahzad Usmani said…
तहे दिल बहुत बहुत धन्यवाद सम्मान्य मंच ओबीओ, संचालक महोदय ,प्रधान संपादक महोदय तथा निर्णायक मंडल। यह मेरे लिये अत्यंत प्रसन्नता व हौसला अफज़ाई का अविस्मरणीय शुभ अवसर है। आपके निर्देश व मार्गदर्शन के अनुपालन की पूरी कोशिश करूँगा।

_शेख़ शहज़ाद उस्मानी
शिवपुरी म.प्र.
 
 
 

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

Mahendra Kumar commented on Sushil Sarna's blog post नमक सी जलन...
"उम्दा कविता है आदरणीय सुशील सरना जी. हार्दिक बधाई स्वीकार कीजिए. सादर."
4 minutes ago
Mahendra Kumar commented on Sheikh Shahzad Usmani's blog post समय की लाठियां (लघुकथा)
"सही कहा आपने, मुँह पर "सही नीयत और सही तरक़्क़ी" और दिल में "शाही नीयत और शाही…"
8 minutes ago
Mahendra Kumar commented on TEJ VEER SINGH's blog post आपसी सहयोग - लघुकथा –
"जीवन में आपसी सहयोग के महत्त्व को दर्शाती बढ़िया लघुकथा है आदरणीय तेज वीर सिंह जी. हार्दिक बधाई…"
45 minutes ago
Shyam Narain Verma posted a blog post

जब ये तपन दूर हो जाये |

दहक  रहा हर कोना कोना   ,  सूरज बना आग का गोला |मुश्किल  हुआ निकलना घर से ,  लू ने आकर धावा बोला…See More
59 minutes ago
Dr Ashutosh Mishra posted a blog post

मेरी आँखों में कभी अक्स ये अपना देखो

मेरी आँखों में कभी अक्स ये अपना देखो इस बहाने ही सही प्यार का सहरा देखो बेखबर गुल के लवों को छुआ…See More
59 minutes ago
babitagupta commented on TEJ VEER SINGH's blog post आपसी सहयोग - लघुकथा –
"लघु कथा के माध्यम से आपसी सहयोग के बिना जीवन निस्सार ,अच्छा संदेश दिया हैं.प्रस्तुत रचना के लिए…"
14 hours ago
babitagupta commented on Sheikh Shahzad Usmani's blog post समय की लाठियां (लघुकथा)
"लघु  कथा का माध्यम से लाठी के दबदबे का सही कटाक्ष किया हैं,प्रस्तुत रचना पर बधाई ."
14 hours ago
बसंत कुमार शर्मा posted a blog post

गजल - वो अक्सर कुछ नहीं कहता

गजल मापनी १२२२ १२२२ १२२२ १२२२ सभी कुछ झेल लेता है, वो’ अक्सर कुछ नहीं कहतानचाता है मदारी पर, ये’…See More
17 hours ago
Sheikh Shahzad Usmani posted a blog post

समय की लाठियां (लघुकथा)

पार्क की ओर जाते हुए उन दोनों बुज़ुर्ग दोस्तों के दरमियाँ चल रही बातचीत और उनके हाथों में लहरा सी…See More
21 hours ago
TEJ VEER SINGH posted a blog post

आपसी सहयोग - लघुकथा –

आपसी सहयोग - लघुकथा – साहित्यकार तरुण घोष के नवीनतम लघुकथा संग्रह "अपने मुँह मियाँ मिट्ठू" को वर्ष…See More
21 hours ago
Samar kabeer replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-95
"समय नहीं है अब ।"
yesterday
Tilak Raj Kapoor replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-95
"उपर अजय जी की ग़ज़ल पर मेरी टिप्पणी देखें।"
yesterday

© 2018   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service