For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

maharshi tripathi
  • Male
  • basti
  • India
Share

Maharshi tripathi's Friends

  • kaushal chaudhary
  • pratibha pande
  • Pratapgarhi Israr Ahmad
  • jaan' gorakhpuri
  • Shriram chaudhary
  • prashant tripathi
  • Hari Prakash Dubey
  • sarita panthi
  • Dr. Vijai Shanker
  • डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव
  • गिरिराज भंडारी
  • Dr Ashutosh Mishra
  • vijay nikore
  • मिथिलेश वामनकर
  • वीनस केसरी
 

Welcome, maharshi tripathi's blog/ मेरे व्यक्तिगत पेज पर आपका हार्दिक स्वागत है |

Profile Information

Gender
Male
City State
basti,uttar pradesh
Native Place
lucknow
Profession
still study at B.B.S C.E.T as a mechanical engg. student
About me
am a simple and modern boy of india ,,,i like writing poems,shayari

Maharshi tripathi's Blog

दुरुपयोग

Posted on June 8, 2016 at 2:06pm — 9 Comments

छोटे भगवान्

Posted on April 12, 2016 at 10:39am — 2 Comments

गलत संगति

Posted on June 6, 2015 at 8:00pm — 16 Comments

सजा पायी है

Posted on June 3, 2015 at 6:01pm — 11 Comments

भारत -मेरी कल्पना

Posted on April 6, 2015 at 11:00pm — 9 Comments

पीछे मेरी दुआ है |

Posted on February 19, 2015 at 10:30pm — 16 Comments

रेलवे पुलिस (लघुकथा )

Posted on January 19, 2015 at 3:00pm — 16 Comments

नया साल आया

Posted on January 3, 2015 at 6:51pm — 7 Comments

बस तू साथ है |

Posted on December 25, 2014 at 8:38pm — 7 Comments

बस तू साथ है |

Posted on December 25, 2014 at 12:00pm — 3 Comments

maharshi tripathi's Photos

  • Add Photos
  • View All

Comment Wall (3 comments)

You need to be a member of Open Books Online to add comments!

Join Open Books Online

At 9:03pm on November 30, 2015, Dr. Vijai Shanker said…
प्रिय महिर्षि जी , आपकी कथा अभी पढ़ी , आपकी जिज्ञासा समझ आ गयी , आदरणीय सविता मिश्रा जी ने आपकी जिज्ञासा का समाधान कर दिया है , मेरा विश्वास है आप समझ गए होंगे कि आ ० योगराज प्रभाकर का संकेत किधर है। लघु- कथा हेतु रचना एक प्रकरण की ही अपेक्षित होती हैं। कथा अच्छी है , आगे प्रयास जारी रखें।
सस्नेह।
At 6:14pm on November 19, 2015, pratibha pande said…

 जन्मदिन की ढेरों शुभकामनाएँ आपको 

At 12:29pm on February 28, 2015, डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव said…

प्रिय महर्षि

आपकी मित्रता का स्वागत  i साथ ही आप अनुज भी  है i आपको स्नेह और आशीष i

 
 
 

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

रवि भसीन 'शाहिद' commented on रवि भसीन 'शाहिद''s blog post करेगा तू क्या मिरी वकालत (ग़ज़ल)
"आदरणीय रूपम कुमार 'मीत' साहिब, जी नहीं नहीं, मैं भी नौ-मश्क़ शाइर ही हूँ, इसलिए कई बार…"
24 minutes ago
रवि भसीन 'शाहिद' commented on रवि भसीन 'शाहिद''s blog post ख़ुदा ख़ैर करे (ग़ज़ल)
"आदरणीय रूपम कुमार 'मीत' साहिब, ग़ज़ल तक आने के लिए और अपनी अमूल्य उत्साहवर्धक टिप्पणी देने…"
27 minutes ago
रवि भसीन 'शाहिद' commented on रवि भसीन 'शाहिद''s blog post जो तेरी आरज़ू (ग़ज़ल)
"आदरणीय रूपम कुमार 'मीत' साहिब, आपकी हौसला-अफ़ज़ाई के लिए तह-ए-दिल से आपका आभारी हूँ! आप जिस…"
31 minutes ago
Ram Awadh VIshwakarma commented on Ram Awadh VIshwakarma's blog post ग़ज़ल - एक अरसे से जमीं से लापता है इन्किलाब
"आदरणीय दयाराम जी आदाब। ग़ज़ल पसन्द करने के लिए सादर आभार"
43 minutes ago
Ram Awadh VIshwakarma commented on Ram Awadh VIshwakarma's blog post ग़ज़ल - एक अरसे से जमीं से लापता है इन्किलाब
"आदरणीया डिम्पल शर्मा जी आदाब। ग़ज़ल सराहना एवं उत्साह वर्धन के लिए बहुत बहुत धन्यवाद।"
46 minutes ago
Ram Awadh VIshwakarma commented on Ram Awadh VIshwakarma's blog post ग़ज़ल - एक अरसे से जमीं से लापता है इन्किलाब
"आदरणीय सुरेन्द्र नाथ जी। सादर अभिवादन। ग़ज़ल पर टिप्पणी एवं उत्साह वर्धन के लिए हृदय से आभार"
49 minutes ago
Ram Awadh VIshwakarma commented on Ram Awadh VIshwakarma's blog post ग़ज़ल - एक अरसे से जमीं से लापता है इन्किलाब
"आदर्णीय तेजवीर सिंह जी नमस्कार। ग़ज़ल पर टिप्पणी करने एवं उत्साह वर्धन के लिए हार्दिक आभार"
52 minutes ago
Ram Awadh VIshwakarma commented on Ram Awadh VIshwakarma's blog post ग़ज़ल - एक अरसे से जमीं से लापता है इन्किलाब
"आदरणीय समर कबीर साहब ग़ज़ल पर टिप्पणी करने, उत्साह बढ़ाने एवं सुझाव के लिए तहे दिल से शुक्रिया। मैं…"
55 minutes ago
Dayaram Methani commented on Dimple Sharma's blog post कहीं नायाब पत्थर है , कहीं मन्दिर मदीना है
" आदरणीय डिंपल शर्मा जी सुंदर गज़ल सृजन के लिए बहुत बहुत बधाई आपको। कोई मन्दिर पे सर टेके, कोई…"
1 hour ago
Dayaram Methani commented on Sushil Sarna's blog post उल्फ़त पर दोहे :
" आदरणीय सुशील सरना जी, अति सुंदर दोहा सृजन के लिए बधाई स्वीकार करें।"
1 hour ago
Dayaram Methani commented on Ram Awadh VIshwakarma's blog post ग़ज़ल - एक अरसे से जमीं से लापता है इन्किलाब
"इन्किलाब की याद दिलाने के लिए राम अवध जी बहुत बहुत धन्यवाद एवं बधाई।"
1 hour ago
Dayaram Methani commented on लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर''s blog post राजन तुम्हें पता - लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर'
"हालत वतन के पेट की कब से खराब हैदेते नहीं जुलाब क्यों राजन तुम्हें पता --------अति…"
2 hours ago

© 2020   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service