For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

बृजेश नीरज's Discussions (2,094)

Discussions Replied To (24) Replies Latest Activity

"आदरणीय जगदीश पंकज जी, इस काव्य संग्रह के रूप में प्रस्तुत मेरे छोटे से प्रयास को मान…"

बृजेश नीरज replied Jul 13, 2014 to कोहरा सूरज धूप

1 Jul 13, 2014
Reply by बृजेश नीरज

"आदरणीय शरदिंदु जी आपका बहुत-बहुत आभार!"

बृजेश नीरज replied Apr 20, 2014 to ‘‘कोहरा सूरज धूप’’ एक समर्थ कवि के आने की आहट

4 Apr 20, 2014
Reply by बृजेश नीरज

"आदरणीया अन्नपूर्णा जी, आपका हार्दिक आभार! आपके शब्दों से बहुत बल मिला!"

बृजेश नीरज replied Apr 17, 2014 to आदरणीय बृजेश 'नीरज ' की पुस्तक -' कोहरा सूरज धूप ' मेरे विचार मे

1 Apr 17, 2014
Reply by बृजेश नीरज

"आदरणीया वंदना जी आपका हार्दिक आभार!"

बृजेश नीरज replied Apr 11, 2014 to ‘‘कोहरा सूरज धूप’’ एक समर्थ कवि के आने की आहट

4 Apr 20, 2014
Reply by बृजेश नीरज

"आदरणीया गीतिका जी आपका हार्दिक आभार!"

बृजेश नीरज replied Apr 8, 2014 to ‘कोहरा सूरज धूप’ की समीक्षा - जहीर कुरैशी

6 Apr 8, 2014
Reply by बृजेश नीरज

"आदरणीय सौरभ जी आपका हार्दिक आभार!"

बृजेश नीरज replied Apr 6, 2014 to ‘कोहरा सूरज धूप’ की समीक्षा - जहीर कुरैशी

6 Apr 8, 2014
Reply by बृजेश नीरज

"आदरणीया प्राची जी आपका हार्दिक आभार!"

बृजेश नीरज replied Apr 5, 2014 to ‘कोहरा सूरज धूप’ की समीक्षा - जहीर कुरैशी

6 Apr 8, 2014
Reply by बृजेश नीरज

"आदरणीय धर्मेन्द्र जी, आपका बहुत-बहुत आभार! मैं अभिभूत हूँ, निशब्द हूँ! पुनः हार्दिक…"

बृजेश नीरज replied Feb 19, 2014 to एक कवि की दृष्टि से - कोहरा, सूरज, धूप (बृजेश ‘नीरज’)

1 Feb 19, 2014
Reply by बृजेश नीरज

सदस्य कार्यकारिणी

"सत्य! "

बृजेश नीरज replied Nov 27, 2013 to परों को खोलते हुये-1

4 Nov 27, 2013
Reply by बृजेश नीरज

सदस्य कार्यकारिणी

"किसी पाठक की नज़र से गुजरने के बाद ऐसे शब्द मिलना, रचनाकार के रूप में आत्म-संतुष्ट कर…"

बृजेश नीरज replied Nov 27, 2013 to परों को खोलते हुये-1

4 Nov 27, 2013
Reply by बृजेश नीरज

RSS

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

Euphonic Amit replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-151
"आदरणीय Rachna Bhatia जी तरही ग़ज़ल पर अच्छे प्रयास के लिए शुभकामनाएँ 1 रब से माँगू दुआ उस कली के…"
54 minutes ago
Manan Kumar singh replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-151
"आभार आ.रचना जी।"
1 hour ago
Manan Kumar singh replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-151
"आभार आ.दयाराम जी।"
1 hour ago
Manan Kumar singh replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-151
"आभार आ.अमित जी।"
1 hour ago
Manan Kumar singh replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-151
"आभार आ.अजय जी।"
1 hour ago
Manan Kumar singh replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-151
"आभार आ.लक्ष्मण भाई जी।"
1 hour ago
Manan Kumar singh replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-151
"आपका आभार मोहतरम समर जी। "कोशिशों का शिकारा बढ़ा जायेगा, बात रह जायेगी बतकही के लिए।""
1 hour ago
Dayaram Methani replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-151
"आदरणीय अमित जी, अति सुंदर ग़ज़ल के लिए हार्दिक बधाई स्वीकार करें।"
1 hour ago
Dayaram Methani replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-151
"आदरणीय समर कबीर जी, प्रोत्साहन एवं सुझाव के लिए हार्दिक आभार।"
1 hour ago
जयनित कुमार मेहता replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-151
"मुफ़्त में कुछ भी कर दे किसी के लिएकितना मुश्किल है ये आदमी के लिए गांव, घर, खेत-खलिहान, बचपन के…"
1 hour ago
Euphonic Amit replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-151
"आदरणीय लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' भाई जी "आपकी दाद और हौसला अफ़ज़ाई के लिए…"
1 hour ago
Euphonic Amit replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-151
"आदरणीय Gurpreet Singh jammu भाई जी "आपके समय के लिए एवं प्रोत्साहन के लिए हृदय तल से आभारी…"
1 hour ago

© 2023   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service