For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

www.openbooksonline.com को मिला £1,000,000.00(British Pounds) का प्राइज़ !!!

ओपन बुक्स ऑनलाइन के सुझाव और शिकायत के लिये जारी ई मेल id contact2obo@gmail.com पर आज एक मेल मिला है जिसमे बहुत बड़ा ईनाम देने की बात कही गई है, पर मुझको समझ मे नही आया की ऐसा कौन सा तीर ओपन बुक्स ऑनलाइन ने मार दिया है भाई की आप बड़का ईनाम दे रहे है,
आप लोगो की राय जानने के लिये मैं मेल content के साथ साथ उसका screen shot भी यहा दे रहा हू कृपया ईस पर अपनी राय देने की कृपा करे,


This is to inform you that you have been selected for a cash prize of £1,000,000.00(British Pounds) held on 2nd June 2010 in London
(microsoft lottery).The selection process was carried out through by random selection in Our computerized email selection system. Fill the below:

MR. Terry Martins
(VERIFICATION DEPARTMENT MANAGER)
Email:martins137@msn.com

1.Full Name:
2.Full Address:
3.Occupation:
4.Age:
5.Sex:
6.Nationality:
7.Country Of Residence:
8.Telephone Number:

Views: 2072

Reply to This

Replies to This Discussion

ab e khuskhabri soon ke ta hamar mann khus ho gail ha jee ganehs bhaiya.......hum ta sochni ki kuch hamni ke bhi bhet jai ............hahahaha......
bahut badhiya kahbar baa ae bhaiya...humhu bani saathe paisa humro ke chahi kuch...naa ta hum income tax wala ke bata deb....

hehehehe
इस तरह की फासने वाले मेल और SMS का बाढ़ सा आ गया है, पर हमारे सदस्यों को सावधान रहने की जरूरत है, ये सब पूरी तरह से धोखाधड़ी है, इसे इग्नोर करना ही बेहतर है,
this is fake mail.I am agree with admin. kindly ignore it
Thease sorts of mails are generated from the Nigerian Cyber Thugs. In future you must delete such mails after Reporting it as Spam. This international mafia has robbed thousands of innocent people after having their bank account details. So always beware of such fraud mails.
Dhokheybaajo ki kami nahi hai yahaa, bachh kar rahney ki jaroorat hai, aisey mail ko ignore karney mey hi bhalaai hai,
Ganesh ji this is an totally fake mail ...please don take any next step against this email ...
after filling the form they will asked for money frm ur side ....so please ignore such kinds of email if again coming to urs mail id... i have recieved these types of mail several time so please don care about this fake mail.
thanx
best regards
aleem azmi
jai ho yaisa mail hamare mail par hamesha aata hain par main is par dhayan nahi deta huin, aap log bhi dhyan na de ,
भाई गनेशजी, एकरी झाँसा में मति अइहS> इ स्पाम ह....सादर।।
hello,
Ye bahut jyada khush hone wali bat nahi hai balki hoshiyar ho jane ki bat hai.
ye ye farzi lottry service walo ke mail hai jo at random kishi par mail id par bheja jata hai.
jab aap eske details bhar ke bhej doge tab aapko ek Bank A/C me kuchh paisa jama karne ko bola jayega, jab aap paisa jama kar dego sare correspondence apne aap band ho jayenge aur aap apne paise se hath dhokar bevkoof ban jaoge!!!!

SAVDHAN
kya kiya jay, ye to asmanjas ki isthiti hai. waise in sb waahiyaat baato se bach ke hi rahna chaahiye. mujhe bhi mere email id pe kuchh din pahale offer aaya tha. but maine to padh ke delete kar diya.
भइया ई हऽ धोखाधड़ी भइया ई हऽ झाँसा
भइयाजी तूँ बाँचल रहिहऽ ई ठगन कऽ पाँसा
लोक लुभइया ई हऽ
बड़ा भुलइया ई हऽ
सोझा मनई जेही फाँसे फेकल ई हऽ फाँसा
करीं मजूरी सोना भेंटी बाकी कउड़ी-काँसा..

धन्यवाद..

RSS

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

Usha Awasthi commented on Usha Awasthi's blog post मन कैसे-कैसे घरौंदे बनाता है?
"आदरणीय समर कबीर साहेब , हार्दिक आभार आपका।"
55 minutes ago
बृजेश कुमार 'ब्रज' commented on बृजेश कुमार 'ब्रज''s blog post ग़ज़ल-रफ़ूगर
"दूसरी बात 'दो' शब्द की जगह "दे" शब्द उचित होगा ,देखिएगा I  दरअसल…"
2 hours ago
बृजेश कुमार 'ब्रज' commented on बृजेश कुमार 'ब्रज''s blog post ग़ज़ल-रफ़ूगर
"आदरणीय समर कबीर जी आपकी सूक्ष्म विवेचना से ग़ज़ल में निखार ही आएगा...जरूरी सुधार बिल्कुल किये जा सकते…"
2 hours ago
Gurpreet Singh jammu commented on Gurpreet Singh jammu's blog post ग़ज़ल - गुरप्रीत सिंह जम्मू
"जी, बहुत शुक्रिया आदरणीय समर सर जी"
3 hours ago
Samar kabeer commented on Balram Dhakar's blog post ग़ज़ल : बलराम धाकड़ (पाँव कब्र में जो लटकाकर बैठे हैं।)
"जनाब बलराम धाकड़ जी आदाब, ग़ज़ल का प्रयास अच्छा है, बधाई स्वीकार करें I  'पाँव कब्र में जो…"
14 hours ago
लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' commented on लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर''s blog post चन्दा मामा! हम बच्चों से (बालगीत) - लक्ष्मण धामी "मुसाफिर"
"आ . भाई समर जी सादर अभिवादन। गीत पर उपस्थिति और उत्साहवर्धन के लिए आभार।"
15 hours ago
Samar kabeer commented on बृजेश कुमार 'ब्रज''s blog post ग़ज़ल-रफ़ूगर
"जनाब बृजेश कुमार 'ब्रज' जी आदाब, ग़ज़ल का प्रयास अच्छा है, बधाई स्वीकार करें…"
15 hours ago
Samar kabeer commented on Sushil Sarna's blog post दोहा पंचक. . . . .
"जनाब सुशील सरना जी आदाब, अच्छी प्र्स्तुति पर बधाई स्वीकार करें I "
15 hours ago
Samar kabeer commented on Usha Awasthi's blog post मन कैसे-कैसे घरौंदे बनाता है?
"मुहतरमा ऊषा अवस्थी जी आदाब, अच्छी रचना हुई है, बधाई स्वीकार करें I "
15 hours ago
Samar kabeer commented on लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर''s blog post चन्दा मामा! हम बच्चों से (बालगीत) - लक्ष्मण धामी "मुसाफिर"
"जनाब लक्ष्मण धामी जी आदाब, अच्छा बाल गीत लिखा आपने, बधाई स्वीकार करें ।"
15 hours ago
Samar kabeer commented on Gurpreet Singh jammu's blog post ग़ज़ल - गुरप्रीत सिंह जम्मू
"जनाब गुरप्रीत सिंह जी आदाब, ग़ज़ल का प्रयास अच्छा है, बधाई स्वीकार करें । टंकण त्रुटियाँ देख लें ।"
15 hours ago
लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' posted a blog post

चन्दा मामा! हम बच्चों से (बालगीत) - लक्ष्मण धामी "मुसाफिर"

रूठे हो बहनों से या फिर,  मद में अपने चूर बताओ।चन्दा मामा! हम बच्चों से, क्यों हो इतने दूर…See More
23 hours ago

© 2023   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service