For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Blogs

Latest Activity

Chetan Prakash replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-139
"आशिक़ी के वो ज़माने  सुन पुराने  हो गए  आशना जो कहते थे खुद को सयाने हो…"
4 minutes ago
Sanjay Shukla replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-139
"चमचमाते ख़्वाब जो थे सब पुराने हो गये कुछ हक़ीक़त बन गये और कुछ फ़साने हो गये /1 कौन होगा इन से बढ़…"
12 minutes ago
Hiren Arvind Joshi replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-139
"जब लगी ठोकर जिआ पर हम सियाने हो गए ज़ख़्मे-फुर्क़त के हमारे अब ख़ज़ाने हो गए अश्क छलके हिज्र में तो…"
28 minutes ago
Hiren Arvind Joshi replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-139
"बेहतरीन ग़ज़ल"
43 minutes ago
Hiren Arvind Joshi replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-139
"बेहतरीन"
46 minutes ago
Richa Yadav replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-139
"  2122  2122  2122   212 आज जब सोचा कि बच्चे तो सयाने हो गए फिर ख़याल आया…"
58 minutes ago
सालिक गणवीर replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-139
"  2122          2122        2122   …"
1 hour ago
अमीरुद्दीन 'अमीर' replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-139
""अब उसे देखे हुए कितने ज़माने हो गए" 2122  -  2122  -  2122 …"
2 hours ago
Tasdiq Ahmed Khan replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-139
"ग़ज़ल ख़त्म मेरे प्यार के सारे फ़साने हो गए l जिसको चाहा था उसे भूले ज़माने हो गए l आज भी करती है…"
3 hours ago
Anil Kumar Singh replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-139
"2122  2122 2122 212 हँस के कहते हैं वो हमसे हम पुराने हो गएआज के बच्चे तो सचमुच ही सियाने हो…"
4 hours ago
Aazi Tamaam replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-139
"जी आदरणीय अमीर जी आपका दिल से शुक्रिया ख़ुदा गुरु जी को जल्द से जल्द शिफ़ा याब करे यही दुआ है"
9 hours ago
Aazi Tamaam replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-139
"2122 2122 2122 212 सोहबतों में आ के तेरी दिन सुहाने हो गये हम तेरे या रब हाँ तेरे हम दीवाने हो…"
9 hours ago

© 2022   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service