For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

Mumtaz Aziz Naza's Discussions (165)

Discussions Replied To (165) Replies Latest Activity

"मैं माफी चाहूंगी, लेकिन इस मिसरे की बहर है, "फ़ाअ फ़ऊलुन फ़अलुन फ़अलुन फ़अलुन फ़अलुन फ़ाइलत…"

Mumtaz Aziz Naza replied Oct 28, 2021 to "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-136

343 Oct 30, 2021
Reply by लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर'

सदस्य टीम प्रबंधन

"बहुत खूब, बहुत बहुत मुबारकबाद"

Mumtaz Aziz Naza replied Dec 15, 2015 to "ओ बी ओ लाइव महा उत्सव" अंक- 62 की समस्त संकलित रचनाएँ

31 Dec 18, 2015
Reply by सीमा शर्मा मेरठी

"तरही मिसरे पे मेरी छोटी सी कोशिश हम भी ज़रा अनाड़ी हैं उल्फ़त के बाब मेंकच्चे हैं थो…"

Mumtaz Aziz Naza replied Jan 28, 2012 to "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक - १९

627 Jan 30, 2012
Reply by अरुण कुमार निगम

प्रधान संपादक

"aahahaha, utar ke aa gaya toofan khud safeene men, bemisaal tarkeeb hai Siya ji, mub…"

Mumtaz Aziz Naza replied Jan 9, 2012 to "OBO लाइव महा उत्सव" अंक १५ (Now Closed with 669 Replies)

660 Jan 11, 2012
Reply by Er. Ambarish Srivastava

प्रधान संपादक

"sabhi aadarniya mitron ko dil ki gehraaiyon se dhanyavaad deti hoon, ke aap ne meri…"

Mumtaz Aziz Naza replied Jan 9, 2012 to "OBO लाइव महा उत्सव" अंक १५ (Now Closed with 669 Replies)

660 Jan 11, 2012
Reply by Er. Ambarish Srivastava

प्रधान संपादक

"wah, behad sundar, kamaal ki rachna hai"

Mumtaz Aziz Naza replied Jan 9, 2012 to "OBO लाइव महा उत्सव" अंक १५ (Now Closed with 669 Replies)

660 Jan 11, 2012
Reply by Er. Ambarish Srivastava

प्रधान संपादक

"mujhe bhi nahin dikhaai di"

Mumtaz Aziz Naza replied Jan 9, 2012 to "OBO लाइव महा उत्सव" अंक १५ (Now Closed with 669 Replies)

660 Jan 11, 2012
Reply by Er. Ambarish Srivastava

प्रधान संपादक

"bahot khoobsoorat ghazal hai, bahot khoob"

Mumtaz Aziz Naza replied Jan 9, 2012 to "OBO लाइव महा उत्सव" अंक १५ (Now Closed with 669 Replies)

660 Jan 11, 2012
Reply by Er. Ambarish Srivastava

प्रधान संपादक

"waaaaaaaaah, dil ko chhu gai aap ki ghazal"

Mumtaz Aziz Naza replied Jan 9, 2012 to "OBO लाइव महा उत्सव" अंक १५ (Now Closed with 669 Replies)

660 Jan 11, 2012
Reply by Er. Ambarish Srivastava

प्रधान संपादक

"a hahaha, kya khoob, sundar hain aap ke dohe"

Mumtaz Aziz Naza replied Jan 9, 2012 to "OBO लाइव महा उत्सव" अंक १५ (Now Closed with 669 Replies)

660 Jan 11, 2012
Reply by Er. Ambarish Srivastava

RSS

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

Admin posted discussions
Tuesday
Admin added a discussion to the group चित्र से काव्य तक
Thumbnail

'ओबीओ चित्र से काव्य तक' छंदोत्सव अंक 156

आदरणीय काव्य-रसिको !सादर अभिवादन !!  …See More
Tuesday

सदस्य टीम प्रबंधन
Dr.Prachi Singh commented on मिथिलेश वामनकर's blog post कहूं तो केवल कहूं मैं इतना: मिथिलेश वामनकर
"बहुत सुंदर अभिव्यक्ति हुई है आ. मिथिलेश भाई जी कल्पनाओं की तसल्लियों को नकारते हुए यथार्थ को…"
Friday

सदस्य टीम प्रबंधन
Saurabh Pandey commented on मिथिलेश वामनकर's blog post कहूं तो केवल कहूं मैं इतना: मिथिलेश वामनकर
"आदरणीय मिथिलेश भाई, निवेदन का प्रस्तुत स्वर यथार्थ की चौखट पर नत है। परन्तु, अपनी अस्मिता को नकारता…"
Jun 6
Sushil Sarna posted blog posts
Jun 5
Sushil Sarna commented on Sushil Sarna's blog post दोहा पंचक. . . . .
"आदरणीय मिथिलेश वामनकर जी सृजन के भावों को मान देने का दिल से आभार ।विलम्ब के लिए क्षमा सर ।"
Jun 5
Sushil Sarna commented on Sushil Sarna's blog post कुंडलिया .... गौरैया
"आदरणीय मिथिलेश वामनकर जी सृजन के भावों को मान देने का दिल से आभार आदरणीय जी । सहमत एवं संशोधित ।…"
Jun 5
Sushil Sarna commented on Sushil Sarna's blog post दोहा पंचक. . . . .प्रेम
"आदरणीय मिथिलेश वामनकर जी सृजन पर आपकी मनोहारी प्रशंसा का दिल से आभार आदरणीय"
Jun 3
Sushil Sarna posted a blog post

दोहा पंचक. . . . .मजदूर

दोहा पंचक. . . . मजदूरवक्त  बिता कर देखिए, मजदूरों के साथ । गीला रहता स्वेद से , हरदम उनका माथ…See More
Jun 3

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर commented on मिथिलेश वामनकर's blog post कहूं तो केवल कहूं मैं इतना: मिथिलेश वामनकर
"आदरणीय सुशील सरना जी मेरे प्रयास के अनुमोदन हेतु हार्दिक धन्यवाद आपका। सादर।"
Jun 3
Sushil Sarna commented on मिथिलेश वामनकर's blog post कहूं तो केवल कहूं मैं इतना: मिथिलेश वामनकर
"बेहतरीन 👌 प्रस्तुति सर हार्दिक बधाई "
Jun 2
Sushil Sarna commented on Sushil Sarna's blog post दोहा पंचक. . . . .मजदूर
"आदरणीय मिथिलेश वामनकर जी सृजन पर आपकी समीक्षात्मक मधुर प्रतिक्रिया का दिल से आभार । सहमत एवं…"
Jun 2

© 2024   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service