For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

Nemichand Puniya
  • Pali-Marwar,Rajsthan
  • India
Share

Nemichand Puniya's Groups

 

Nemichand Puniya's Page

Profile Information

Gender
Male
City State
Pali-marwar, rajsthan
Native Place
Pali-marwar
Profession
Poet
About me
writer& Repoter

Nemichand Puniya's Blog

Gazal

गजल

औरों पे कभी, बोझ न बन,
बहरहाल जाँ सोज न बन।


कायम इज्जत रखनी हो तो,
मेहमां किसी का रोज न बन।


जो किश्ती को ही ले डूबे,
दरिया की वो मौज न बन।


बगैर दावतनामा कभी,
कही शरीके-भोज न बन।


अपने गिरेबाँ में रहा करो ‘चंदन‘
बेखुदी में राजा भोज न बन।।

Posted on March 11, 2011 at 8:00pm — 2 Comments

Comment Wall (8 comments)

You need to be a member of Open Books Online to add comments!

Join Open Books Online

At 6:53pm on June 3, 2011, nemichandpuniyachandan said…
Aadarniy Shree,Ganesh Jee "Bagi" sahib,Bahut-Bahut dhanywad, Aapka sneh aur OBO pariwar ka aashirwad aaj ke din mila main  dhany hua.Aabhaar
At 9:48pm on June 2, 2011,
मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi"
said…
At 8:41pm on June 2, 2011, nemichandpuniyachandan said…
Aadarniy Ravi Kumar Guru Ji,Aapka Ashirvad aaj ke din mila,main dhany hua,Bahut-Bahut dhanyvad.
At 2:49pm on June 2, 2011, Rash Bihari Ravi said…
janam din mubarak ho
At 3:03pm on December 17, 2010,
मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi"
said…
At 10:42am on December 15, 2010, Admin said…

आदरणीय नेमीचंद पुनिया जी,

सादर अभिवादन,

आपकी पुस्तक " कतरों का समंदर " का मुफ्त विज्ञापन OBO के मुख्य पृष्ठ पर कर दिया गया है | बहुत बहुत बधाई आपको |

आप सबका अपना

एडमिन

ओपन बुक्स ऑनलाइन

At 11:37am on December 14, 2010, PREETAM TIWARY(PREET) said…

At 6:07pm on December 13, 2010, Admin said…

 
 
 

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

Chetan Prakash replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-135
"नमस्कार, दिनेश कुमार विश्वकर्मा, ग़ज़ल का अच्छा प्रयास किया  आपने किन्तु रदीफ  ग़लत …"
11 minutes ago
dandpani nahak replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-135
"दूसरा शैर इस तरह पढ़ा जाय       "जन्नत अगर कहीं है यहीं है यहीं तो…"
19 minutes ago
Samar kabeer replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-135
"क्या तब्दीली की है बताइये?"
27 minutes ago
dandpani nahak replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-135
"आदरणीय संजय शुक्ला जी सादर अभिवादन!  बहुत बहुत शुक्रिया आपका आपने वक़्त निकाला ग़ज़ल तक आये और…"
28 minutes ago
Samar kabeer replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-135
"जी, अभी बात नहीं बनी ।"
29 minutes ago
dandpani nahak replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-135
"मेरा नाम दण्डपाणि नाहक है  आदरणीय "
29 minutes ago
dandpani nahak replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-135
"आदरणीय चेतन प्रकाश जी नमस्कार! बहुत-बहुत शुक्रिया आपका आपने समय निकाला ग़ज़ल तक आये और मेरी हौसला…"
30 minutes ago
Sanjay Shukla replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-135
"आदारणीय समर कबीर सर, क्या 4 को यूँ कहा जा सकता है ?....जागे तो गर्द-ए-पाँव ने हैरान कर दिया हम नींद…"
34 minutes ago
Chetan Prakash replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-135
"आदाब, जनाब तस्दीक अहमद  खान साहब, खूबसूरत ग़ज़ल हुई है ।बधाई आप को  ! परन्तु  छठे…"
38 minutes ago
Tasdiq Ahmed Khan replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-135
"bahut bahut shukriya Aapka "
1 hour ago

सदस्य टीम प्रबंधन
Saurabh Pandey replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-135
"    आपके तथ्यों के प्रति सादर भाव रखते हुए इतना ही जानना चाहूँगा, हिन्दी भाषा का व्याकरण…"
2 hours ago
Tasdiq Ahmed Khan replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-135
"जनाब भाई लक्ष्मण जी, ग़ज़ल का सफल प्रयास किया है आपने जिसके लिए बहुत बहुत बधाई l आपके शेर 2 में…"
2 hours ago

© 2021   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service