For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

अबकी केकरा सर पर जाई बिहार के ताज ?

अबकी केकरा सर पर जाई बिहार के ताज ?
कुछ ही दीन बाद बिहार विधान सभा के चुनाव होखे जा रहल बा ! केकरा सर पर होई अबकी बिहार के ताज?
के होई गोल्ड आ के होई बोल्ड ?
जदयू के सुशासन काम दिही ,की राजद के रैली ?
केतना काम करी कांग्रेस के यूथ ब्रिगेड ?
का होई राजद -लोजपा के दोस्ती में ?
बस दिही जा आपन आपन राय !
बिहार में चुनावी बिगुल बज चुकी है .ऐसे हम क्यों नही जान सकते है की किसने बिहार को क्या दिया है और बिहार ने उसको क्या दिया ?किस्मे क्या है गुण ?किस्मे क्या है अवगुण ?किसने बिहार के जनता को बेवकूफ बनाया और किसने बेवकूफ बनाते हुए भी एहसास तक नही होने दिया ? आईये हम अपनी राय/विचार को यहाँ रखे ताकि हमें पता चल सके कौन है सही कौन है लायक .

Views: 1340

Reply to This

Replies to This Discussion

रत्नेश भाई सबसे पहिले त हम रउआ के ऐह मन्च से ऐतना गम्भीर मुद्दा शुरू करे खातिर धन्यबाद देत बानी, रहल बात गद्दी के त ऐहपर कुछ कहल बहुत हि मुस्किल काम बा, काहे से कि राजनीति मे हार जीत खाली कवनो एगो मुद्दा पर आधारित नईखे रहत, ऐहमे विकास के साथ साथ अउर कईगो कारक आपन प्रभाव डालत बा, जईसे जाति, धरम, अगड़ा, पिछड़ा, दलित, महादलित अउर पता ना केतना तरह से लोगन के आपस मे बाट दिहल गईल बा, हम राजनिति से बहुत दूर रहे वालन मे से बानी, ऒकरा बाद भी जहा तक हमरा लागत बा सड़क,स्वास्थ,ऐडुकेशन,लाँ एण्ड आडर के स्थिति देखते हुए सुसाशन बाबू के पलड़ा भारी लागत बा ।
bahut badhiya vishay uthwani raua ratnesh jee.......raua rajniti ke jaankari bahut badhiya baa...humra ta rajniti ke kauno khaas jaankario naikhe.....lekin jahan tak hum dekhat bani eh baar taaz shayad ho sakela ki NDA ke hi jayi.....

ya aisan na bhi ho sakela////
रत्नेश भाई बड़ा हि कठिन काम बा ई राजनितिग लोगन के बारे मे कुछ भी कहल, कब ऊट कवना तरफ से बइठ जाई कोई नईखे जानत, पर ऐतना जरूर बा कि पिछला ४ साल से बिहार के आवो हवा मे बहुत परिवर्तन भईल बा, आ ऐह परिवर्तन के आधार पर सुशासन के सरकार एगो अउर कार्यकाल पा सकेले ।
अबकी केकरा सर पर जाई बिहार के ताज ?
EKAR JAWAB hum na deb kahe se ki ,ekar jawab debe ke adhikar janta janardan ke ba,jawan ki mil gail.

के होई गोल्ड आ के होई बोल्ड ?
aaj ke janta sayad otna bhola bhala naikhe jetana ki aaj se 10 saal pahile rahe.no doubt bihar ke vikas rate bharat me hi nahi pure world me prasidh ho gail.matlab china ke baad biahr ke hi vikash rate rahe.eh adhar par ta gold susasan babu ke hokhe ke chahi.
jaha tak rahal bold ke sawal ta rajad puri tarah se ta na bold hoi ,lekin congress ke yuth brigade se u faiada naikhe hokhe jaat jawan ki rahul gandhi sochat badan.
का होई राजद -लोजपा के दोस्ती में ?
rajad lojpa ke dosti me ta ek daat ke roti kat rahal ba,lekin e dosti sayad roti tak hi rahi.bhagwan kare e logo ka dosti kayam rahe aur besak raheaga bhi,lekin inki dosti sayad agle 5 barsho tak phir bihar band me ek sath giraftari dene me hi kaam aayegi,na ki bihar vidhansabha me sarkar banane me.
yah sara kachha chitha main apne anubhav ke aadhar par de raha hu.na mera kisi party ke prati hamdardi hai nahi kisi se koi sambandh.
chuki main bachpan se hi waise ghar me pala hu jisme ki aksar rajniti ki baat hoti hai.sayad isliye itna mere ko samjh me aa jata hai rajniti ke bare me.
मुद्दा खोजकर हवा बनाना चाहती है राजद

एक तो कई दसको के बाद इतनी धूम धाम से बिहार दिवस मनाया जा रहा है, वही दूसरी और कई पार्टी अपनी अपनी चुनावी मुद्दा खोजने में मशगूल है.
की किस मुद्दा को उछल कर अपनी हवा बनायीं जाये .............एक झलक ......................

सासाराम राजद कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को समाहरणालय के समक्ष मंहगाई व स्थानीय समस्याओं को ले धरना दिया। कमरतोड़ मंहगाई, महिला बिल में सामाजिक न्याय के तहत आरक्षण, किसानों को उपज का उचित मूल्य, सच्चर आयोग की रिपोर्ट को तत्काल लागू करने व पत्थर उद्योग को बंद कर बहुराष्ट्रीय कंपनियों को सौंपने के कथित षड्यंत्र पर राज्य सरकार पर चौतरफा निशाना साधा। स्थानीय स्तर पर जिले में उत्पन्न बिजली व पेय जल समस्या से लोगों को हो रही मुश्किलों के समाधान में राज्य सरकार के रवैये के जमकर आलोचना की गयी। इसे मुद्दा बनाने का आह्वान किया गया।
धरना की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष विजय कुमार मंडल व संचालन प्रधान महासचिव सर्वजीत सिंह खालसा ने की। धरना में शामिल पूर्व मंत्री मो. इलियास हुसैन ने कहा कि अफसरशाही के कारण जन प्रतिनिधियों की भूमिका नगण्य हो गयी है। पूर्व विधायक अशोक कुमार ने करवंदिया के पत्थर खदान को बंद करने की साजिश बताया। धरना में ललन पासवान, भीम यादव, अखलाक अहमद, कुमार विनोद सिंह, पारस कुशवाहा, विजेन्द्र यादव, बलिराम मिश्रा, दशरथ चंद्रवंशी, सुहैल अंसारी, रामबचन पाण्डेय आदि उपस्थित थे
prastuti-ratnesh raman pathak
sabhar -dainik jagran
aapan aapan ray dihi ja ka hoi bihar sarkar ke ke baithi abki rajgaddi par.
सजी है चुनाव की महफ़िल,
अभी मतदान बाकी है,
छिड़ी है जंग अबकी बार,
मगर घमासान बाकी है,
लड़ेंगे सभी लोग आपस मे,
लेके मुद्दों का पिटारा
,मगर यहीं जनता का असली इम्तिहान बाकी है |
sawal bada muskil ba bhai

RSS

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity


सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Admin's discussion 'ओबीओ चित्र से काव्य तक' छंदोत्सव अंक 157 in the group चित्र से काव्य तक
"हार्दिक आभार आपका।"
1 hour ago

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Admin's discussion 'ओबीओ चित्र से काव्य तक' छंदोत्सव अंक 157 in the group चित्र से काव्य तक
"सही कहा आपने "
1 hour ago

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Admin's discussion 'ओबीओ चित्र से काव्य तक' छंदोत्सव अंक 157 in the group चित्र से काव्य तक
"आदरणीय आप और हम आदरणीय हरिओम जी के दोहा छंद के विधान अनुरूप प्रतिक्रिया से लाभान्वित हुए। सादर"
1 hour ago

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Admin's discussion 'ओबीओ चित्र से काव्य तक' छंदोत्सव अंक 157 in the group चित्र से काव्य तक
"सही सुझाव "
1 hour ago

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Admin's discussion 'ओबीओ चित्र से काव्य तक' छंदोत्सव अंक 157 in the group चित्र से काव्य तक
"आभार"
1 hour ago

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Admin's discussion 'ओबीओ चित्र से काव्य तक' छंदोत्सव अंक 157 in the group चित्र से काव्य तक
"जी हार्दिक धन्यवाद "
1 hour ago

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Admin's discussion 'ओबीओ चित्र से काव्य तक' छंदोत्सव अंक 157 in the group चित्र से काव्य तक
"आदरणीय अशोक रक्ताले जी, मैने बस ओ बी ओ के स्वर्णिम काल को याद किया है। बस उन दिनों को फिर से देखना…"
1 hour ago

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Admin's discussion 'ओबीओ चित्र से काव्य तक' छंदोत्सव अंक 157 in the group चित्र से काव्य तक
"आदरणीय अशोक रक्ताले जी, आपको यह प्रयास पसन्द आया, जानकर खुशी हुई। मेरे प्रयास को मान देने के लिए…"
1 hour ago
Ashok Kumar Raktale replied to Admin's discussion 'ओबीओ चित्र से काव्य तक' छंदोत्सव अंक 157 in the group चित्र से काव्य तक
"हो जाता है अस्त जब, सूरज, ढलती शाम। लोग करें सब शाम को, बस ठेके के नाम। बस ठेके के नाम पर, बिक…"
1 hour ago
Ashok Kumar Raktale replied to Admin's discussion 'ओबीओ चित्र से काव्य तक' छंदोत्सव अंक 157 in the group चित्र से काव्य तक
"पैर पकड़ कर कह रहे चाचा रखना ध्यान।।  चाचा भी हैं जानते, इनके सारे  ढंग।। ..........सही…"
1 hour ago
Ashok Kumar Raktale replied to Admin's discussion 'ओबीओ चित्र से काव्य तक' छंदोत्सव अंक 157 in the group चित्र से काव्य तक
"जैसे  दोहों  को  मिले, सच्चे जोड़ीदार। ऐसे रचनाकार की, यहाँ बहुत दरकार।। प्रतिउत्तर…"
1 hour ago
Ashok Kumar Raktale replied to Admin's discussion 'ओबीओ चित्र से काव्य तक' छंदोत्सव अंक 157 in the group चित्र से काव्य तक
"   जी! आदरणीय चेतन प्रकाश जी सादर नमन, आपको दोहे चित्ताकर्षक लगे मेरा रचनाकर्म सफल हुआ.…"
1 hour ago

© 2024   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service