For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

ओ बी ओ लाइव लघुकथा गोष्ठी (62)

Featured Discussions

प्रधान संपादक

लघुकथा विधा : तेवर और कलेवर

लघुकथा शब्द का निर्माण लघु और कथा से मिलकर हुआ है। अर्थात लघुकथा गद्य की एक ऐसी विधा है जो आकार में "लघु" है और उसमे "कथा" तत्व विद्यमान है…

Started by योगराज प्रभाकरLatest Reply

Discussions Replies Latest Activity

प्रधान संपादक

लघुकथा विधा : तेवर और कलेवर

लघुकथा शब्द का निर्माण लघु और कथा से मिलकर हुआ है। अर्थात लघुकथा गद्य की एक ऐसी विधा है जो आकार में "लघु" है और उसमे "कथा" तत्व विद्यमान है…

Started by योगराज प्रभाकर

100 yesterday
Reply by Nilesh Shevgaonkar

प्रधान संपादक

"ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" अंक-29 में शामिल सभी रचनाएँ

(1). आ० मोहम्मद आरिफ जी नरक. जीआरपी थाने के इंचार्ज -" देखो बेटी, ये तो अच्छा हुआ कि हमारे जवान तुम्हें यहाँ ले आए । सुंदर हो , सुशील हो और…

Started by योगराज प्रभाकर

17 on Saturday
Reply by Manan Kumar singh

"ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" अंक-30

आदरणीय साथिओ, सादर नमन। . "ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" के पिछले 28 अंकों में हमारे साथी रचनाकारों ने जिस उत्साह से इसमें हिस्सा लिया और इसे सफ…

Started by Admin

0 Sep 6

"ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" अंक-29 (विषय: अनकहा)

आदरणीय साथिओ, सादर नमन। . "ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" के पिछले 28 अंकों में हमारे साथी रचनाकारों ने जिस उत्साह से इसमें हिस्सा लिया और इसे सफ…

Started by Admin

1092 Aug 31
Reply by surender insan

प्रधान संपादक

"ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" अंक-२ में स्वीकृत सभी लघुकथाएँ

(1) श्री मिथिलेश वामनकर जी  प्लेटफॉर्म पर एक चबूतरे के पास बैठने वाला भिखारी..... दरअसल यही उसकी असली पहचान थी जिसे उसकी ‘बाबानुमा’ सूरत भी…

Started by योगराज प्रभाकर

41 Aug 24
Reply by KALPANA BHATT

प्रधान संपादक

"ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" अंक-28 में शामिल सभी लघुकथाएँ

(1). सुश्री सीमा सिंह जी  मायका "रिक्शा रोकना, जरा!” भाई को राखी बांधकर वापस लौटते समय गुमसुम नंदिनी अचानक बोल पड़ी तो पतिदेव चौंक उठे। “क्…

Started by योगराज प्रभाकर

39 Aug 10
Reply by Archana Tripathi

"ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" अंक-28

आदरणीय साथिओ, सादर नमन। . "ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" के पिछले  27 अंकों में हमारे साथी रचनाकारों ने जिस उत्साह से इसमें हिस्सा लिया और इसे स…

Started by Admin

936 Aug 1
Reply by rajesh kumari

प्रधान संपादक

"ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" अंक 27 में स्वीकृत लघुकथाएँ

(1).  श्री मोहम्मद आरिफ जी  मुक्ति . "बेचारे को आज मुक्ति मिल ही गई ।" राम प्रसाद ने गहरी साँस छोड़ते हुए कहा । पास ही खड़े दिवाकर ने जिज्ञास…

Started by योगराज प्रभाकर

20 Jul 20
Reply by Manisha Saxena

"ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" अंक-27 (विषय: भंवर)

आदरणीय साथिओ, सादर नमन। . "ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" के पिछले  26 अंकों में हमारे साथी रचनाकारों ने जिस उत्साह से इसमें हिस्सा लिया और इसे स…

Started by Admin

502 Jul 1
Reply by Sheikh Shahzad Usmani

प्रधान संपादक

"ओबीओ लघुकथा गोष्ठी" अंक-24 में सम्मिलित लघुकथाएँ

(1). श्री मोहम्मद आरिफ जी सच्चा प्यार. समीर ने जवान लड़की को हाथों में उठाए घर में प्रवेश किया ।माँ शुभांगी कुछ समझ नहीं पाई ।आख़िर माजरा क्य…

Started by योगराज प्रभाकर

27 Jun 7
Reply by Mahendra Kumar

RSS

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Blogs

Latest Activity


सदस्य कार्यकारिणी
गिरिराज भंडारी commented on बृजेश कुमार 'ब्रज''s blog post ग़ज़ल....धीरे धीरे रीत गया - बृजेश कुमार 'ब्रज'
"आ. बृजेश भाई , मुस्काई लफ्ज़ मेरे खयाल से सही है ... कविता और गीत के अलावा  ''…"
45 seconds ago

सदस्य कार्यकारिणी
rajesh kumari posted a blog post

भले ही आईने धोये हुए हैं (फिल्बदीह ग़ज़ल 'राज')

१२२२  १२२२  १२२चढ़े सूरज तलक सोए हुए हैंकिसी की याद में खोए हुए हैं ग़ज़ल लिक्खी हुई है आंसुओं सेकहें…See More
3 minutes ago
surender insan commented on सुरेन्द्र नाथ सिंह 'कुशक्षत्रप''s blog post दबी हर बात जिंदा क्यूँ करें हम (ग़ज़ल)
"वाह बहुत अच्छी ग़ज़ल हुई सुरेन्द्र जी। बहुत बहुत बधाई हो जी । सादर नमन जी"
5 minutes ago
Niraj Kumar commented on Mahendra Kumar's blog post दायरा
"आदरणीय महेंद्र जी, मुझे आश्चर्य है कि इस रचना पर कोई प्रतिक्रिया नहीं है. इस विषय को कथा में…"
6 minutes ago
Sushil Sarna commented on Naveen Mani Tripathi's blog post ग़ज़ल शाम होते ही सँवर जाएंगे
"चाँद बनकर वो निखर जाएंगे । शाम होते ही सँवर जाएंगे ।। जख्म परदे में ही रखना अच्छा । देखकर लोग सिहर…"
19 minutes ago
Sushil Sarna commented on Kalipad Prasad Mandal's blog post ग़ज़ल
"आदरणीय कालीपद जी सुंदर ग़ज़ल के लिए हार्दिक बधाई। "
21 minutes ago
Kalipad Prasad Mandal commented on Kalipad Prasad Mandal's blog post ग़ज़ल
"शुक्रिया  आ सुरेन्द्र नाथ सिंह 'कुश क्षत्रप'जी  , सादर "
35 minutes ago
Samar kabeer commented on Kalipad Prasad Mandal's blog post ग़ज़ल
"थोड़ा व्यस्त हूँ अभी,जल्द ही आता हूँ ।"
36 minutes ago
Kalipad Prasad Mandal commented on Kalipad Prasad Mandal's blog post ग़ज़ल
"आदरणीय समर कबीर  साहिब , आदाब , आप विन्तुवत सलाह देते आये हैं मुझे और मैं उसी के मुताबिक सुधार…"
40 minutes ago
Kalipad Prasad Mandal commented on Kalipad Prasad Mandal's blog post ग़ज़ल
"आदरणीय मोहम्मद आरिफ साहब ,आदाब , इन्तेजार यही है कि गुणी जन विन्दुवत सुधार के लिए सलाह दें तो कुछ…"
46 minutes ago
Usha Awasthi commented on Usha Awasthi's blog post जय हे काली
"धन्यवाद सुरेंद्र नाथ जी।"
51 minutes ago
Usha Awasthi commented on Usha Awasthi's blog post जय हे काली
"धन्यवाद समर जी।"
52 minutes ago

© 2017   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service