For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

PRADEEP KUMAR SINGH KUSHWAHA's Discussions (965)

Discussions Replied To (536) Replies Latest Activity

"आदरणीय अनुज श्री योगराज प्रभाकर . जी . कल पाचवी डोज कीमो की लगनी है , पत्नी को .  सम…"

PRADEEP KUMAR SINGH KUSHWAHA replied Jul 10, 2015 to "ओ बी ओ लाइव महाउत्सव" अंक-57

696 Jul 11, 2015
Reply by Satyanarayan Singh

"दोहा -------तराजू में तौल रहे , जनता के जज्बात।जनता तू मीरा बनी , क्यों न बनी सुकरात…"

PRADEEP KUMAR SINGH KUSHWAHA replied Jul 10, 2015 to "ओ बी ओ लाइव महाउत्सव" अंक-57

696 Jul 11, 2015
Reply by Satyanarayan Singh

सदस्य कार्यकारिणी

"आदरणीय श्री  arun kumar nigam जी सार्थक चर्चा , लोंक तंत्र जीवित है . सादर बधाई , सा…"

PRADEEP KUMAR SINGH KUSHWAHA replied Jul 9, 2015 to क्या यह मेरा भ्रम है ?

17 Jul 21, 2015
Reply by Saurabh Pandey

प्रधान संपादक

"असी भी लिखदे हैं जी, होर लिक्खी  भी हैं,  जीना दी छापियाँ ओना नु होर सारे लोगां नु स…"

PRADEEP KUMAR SINGH KUSHWAHA replied Aug 6, 2014 to ओबीओ के रचनाकारों की लघुकथाओं का पंजाबी में अनुवाद

13 Aug 6, 2014
Reply by PRADEEP KUMAR SINGH KUSHWAHA

"आदरणीय कुंती दी जी  सादर  निश्चय ही बिरले लोग होते हैं जो किसी संस्था या घटना के मूल…"

PRADEEP KUMAR SINGH KUSHWAHA replied May 9, 2014 to ओ.बी.ओ. लखनऊ चैप्टर की मासिक काव्य-गोष्ठी - अप्रैल 2014, एक प्रतिवेदन

11 May 30, 2014
Reply by vandana

"माह का सक्रिय सदस्य चुने जाने पर स्नेही वंदना जी को हार्दिक बधाई . विश्वाश है सहित्य…"

PRADEEP KUMAR SINGH KUSHWAHA replied May 7, 2014 to एक घोषणा:-महीने का सक्रिय सदस्य (Active Member of the Month)

1065 Dec 3, 2016
Reply by सुरेश कुमार 'कल्याण'

"आदरणीय श्री बाग़ी जी  सादर /सस्नेह  आशीष आपको सदा  मंगल हो सब काज  माँ भगवती रक्षा कर…"

PRADEEP KUMAR SINGH KUSHWAHA replied May 4, 2014 to खुशियाँ और गम, ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के संग...

3309 Apr 14
Reply by Aazi Tamaam

"आदरणीया अन्नपूर्णा जी  सादर  महान विभूतियों से मिलने से वंचित रहा .खेद है. पर काल चक…"

PRADEEP KUMAR SINGH KUSHWAHA replied May 1, 2014 to लखनऊ चैप्टर की मासिक काव्य गोष्ठी का आयोजन कानपुर मे - एक रिपोर्ट

8 May 2, 2014
Reply by Shanno Aggarwal

"सितारे नित टूट रहे जाने है क्या राज दिखाए राह कौन अब बने कैसे समाज"

PRADEEP KUMAR SINGH KUSHWAHA replied Apr 20, 2014 to खुशियाँ और गम, ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के संग...

3309 Apr 14
Reply by Aazi Tamaam

"अविश्वसनीय . गहरा आघात . साहित्य जगत को अपूरणीय क्षति. विनम्र श्रद्धांजलि."

PRADEEP KUMAR SINGH KUSHWAHA replied Apr 18, 2014 to खुशियाँ और गम, ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के संग...

3309 Apr 14
Reply by Aazi Tamaam

RSS

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Blogs

Latest Activity

लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' commented on बसंत कुमार शर्मा's blog post यहाँ बस आदमी के भाव ही मंदे बहुत हैं - ग़ज़ल
"आ. भाई बसंत जी, सादर अभिवादन। खूबसूरत सदाबहार गजल के लिए हार्दिक बधाई।"
1 hour ago
लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' commented on लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर''s blog post हमने कहीं पे लौट आ बचपन क्या लिख दिया-लक्ष्मण धामी "मुसाफिर"
"आ. भाई बसंत जी, सादर अभिवादन। गजल पर आपकी मनोहारी टिप्पणी से मन हर्षित हुआ । उपस्थिति व सराहना के…"
4 hours ago
बसंत कुमार शर्मा commented on लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर''s blog post हमने कहीं पे लौट आ बचपन क्या लिख दिया-लक्ष्मण धामी "मुसाफिर"
"आदरणीय धामी जी सादर नमस्कार  अद्भुत गजल हुई है आदरणीय  आनंद आ गया "
4 hours ago
बसंत कुमार शर्मा commented on Sushil Sarna's blog post मन पर दोहे ...........
"आदरणीय सादर नमस्कार, उत्तम दोहे हुए हैं आपके, बधाई  एक दोहे में लय भंग हो रही है, यदि उचित लगे…"
4 hours ago
बसंत कुमार शर्मा commented on बसंत कुमार शर्मा's blog post यहाँ बस आदमी के भाव ही मंदे बहुत हैं - ग़ज़ल
"आदरणीय Aazi Tamaam जी सादर नमस्कार  आपकी हौसलाफजाई के लिए दिल से शुक्रिया "
4 hours ago
Aazi Tamaam commented on बसंत कुमार शर्मा's blog post यहाँ बस आदमी के भाव ही मंदे बहुत हैं - ग़ज़ल
"भाव पूर्ण सुंदर ग़ज़ल है सादर प्रणाम अदर्णीय बसंत जी बधाई स्वीकार करें"
4 hours ago
Sushil Sarna commented on Sushil Sarna's blog post गरीबी ........
"आदरणीय लक्ष्मण धामी जी सृजन के भावों को मान देने का दिल से आभार"
yesterday
बसंत कुमार शर्मा posted a blog post

यहाँ बस आदमी के भाव ही मंदे बहुत हैं - ग़ज़ल

मापनी  १२२२ १२२२ १२२२ १२२  धवल हैं वस्त्र, नीयत के मगर गंदे बहुत हैं चिरैया देख! दाने कम उधर फंदे…See More
yesterday
बसंत कुमार शर्मा commented on सालिक गणवीर's blog post ( बेजान था मैं फिर भी तो मारा गया मुझे......(ग़ज़ल :- सालिक गणवीर)
"आ. भाई सालिक गणवीर जी, सादर अभिवादन ।अच्छी गजल हुई है हार्दिक बधाई "
yesterday
Aazi Tamaam commented on Aazi Tamaam's blog post नग़मा: इक रोज़ लहू जम जायेगा इक रोज़ क़लम थम जायेगी
"सादर प्रणाम आदरणीय धामी सर सहृदय शुक्रिया हौसला अफ़ज़ाई और इस खुशनवाज़ी के लिये आभार सादर"
yesterday
बसंत कुमार शर्मा commented on बसंत कुमार शर्मा's blog post रश्मियाँ दिखतीं नहीं - ग़ज़ल
"आदरणीय अमीरुद्दीन 'अमीर' जी सादर नमस्कार आपकी हौसला अफजाई के लिए दिल से शुक्रिया "
yesterday
Aazi Tamaam replied to Admin's discussion "ओबीओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव" अंक- 120 in the group चित्र से काव्य तक
"कुछ चुनावी कर्म में....... बेहद खूबसूरत कटाक्ष है सादर प्रणाम आदरणीय प्रतिभा जी प्रदत्त विषय पर…"
yesterday

© 2021   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service