For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

फिल्म दलदल हेतु गीत चाहिए...

 

आदरणीय ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के सदस्यों, जैसा की आप सभी को पता है कि मैं बालीवूड के कलाकारों को लेकर एक हिंदी फ़िल्म जागरण फिल्म्स के बैनर तले "दलदल" बनाने जा रहा हूँ , इस फ़िल्म के कई गीतों की रेकॉर्डिंग हो गई है |
एक गीत मुजरा हेतु चाहिए, आप अपनी रचना मेरे इ मेल आई डी jagranfilm@gmail.com या ravikumarguru@india.com पर भेज सकते है, जिस रचना का चयन किया जायेगा उस रचनाकार को उचित पारिश्रमिक दिया जायेगा तथा गीतकार के रूप में फ़िल्म में जगह दिया जायेगा |
दृश्य कुछ इस प्रकार है ..................
एक युवा लड़की जो पूर्व में एक फ़िल्म में बाल कलाकार के रूप में काम कर चुकी है उसको उसके अपनों के द्वारा ही कोठे पर पैसो के लालच में पंहुचा दिया जाता है, वहा पर उसका दैहिक और मानसिक शोषण होता है | वो लड़की कोठा पर मुजरा करती है | लड़की मुजरे के द्वारा अपने दर्द को व्यक्त करना चाहती है |


 

रवि कुमार गुरु


सीईओ


जागरण फिल्म्स


(प्रबंधक ओ बी ओ की अनुमति से)

Views: 1859

Reply to This

Replies to This Discussion

रवि भाई आपको क्षेत्र विशेष में अपर सफलता और नई ऊँवाइयों के लिये हार्दिक शुभकामनाएँ.

 

आपने ओबीओ के रचनाकारों के लिये एक नया ही कैनवास मुहैय्या कराया है. इस हेतु धन्यवाद.

मुझे पूरा विश्वास है कि ऊर्जस्वी रचनाकारों और मानसिक युवाओं द्वारा आपका आमंत्रण नयी चुनौती के रूप में स्वीकार किया जाएगा. यह देखना रोचक होगा कि आपके इस आमंत्रण-सह-आह्वान में कौन-कौन से रचनाकार अपनी भागीदारी दिखाते हैं. इस कैनवास के माध्यम से ओबीओ के मंच पर रचना-धर्मिता का एक नया ही रूप निखर कर आएगा.

इस क्रम में मजरूह, शकील, साहिर से लेकर अन्जान और शहरयार जैसे महान कलाकार और ग़ज़लगो के नाम मस्तिष्क में घूम जाते हैं.

 

सभी के प्रति मेरी शुभकामनाएँ.

pandey ji namaskar 

aapne mere housale ko doguna bada diya hain aur hame ummid hain ki OBO se ji mere mujra milega

PLZ. LET ME KNOW YOUR E-MAIL & PHONE NO.

— Mahendra Bhatnagar

drmahendra02@gmail.com

Phone : 0751-4092908

namaskar sir 

upar me mera e mail hain  phone no hain 9433568612/9331023029

dhanyabad vandana ji
achchhi pahal hai. geet likha ja sakatahai. lekin behatar yahi ho ki pahale aap yah to spasht kare ki geetkar ko mehanatana kitanaa socha hai? girishpankaj1@gmail.com
mehanatana uchit hi rahega pankaj ji aur sath me film me as a geetkar unka nam aayega

RAVI JI I WILL SEND FEW SONG OF MINE

YOU CAN CHECK IF SUITS ANYONE

 

DEEPAK SHARMA KULUVI

09136211486

ok sir
Ravi ji, hardik badhayee.  Hamari shubhkamna hai aap safalta ki har oochayiyaa prapt kare.
dhanyabad neelam ji
ravikumarguru@gmail.com / jagranfilm@gmail.com kisi par bhi jayada jankari ke liye cont. kar sakte hain 9433568612 / 9331023029

RSS

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Blogs

Latest Activity

अमीरुद्दीन 'अमीर' commented on Sushil Sarna's blog post दोहा त्रयी .....
"आदरणीय सुशील सरना जी आदाब, सुंदर दोहा त्रयी हुई है, हार्दिक बधाई स्वीकार करें।  "कभी जीत…"
9 hours ago
अमीरुद्दीन 'अमीर' commented on अमीरुद्दीन 'अमीर''s blog post ग़ज़ल (जिसको हुआ गुमाँ कि 'ख़ुदा' हो गया है वो)
"आदरणीय सुशील सरना जी आदाब, ख़ाकसार की ग़ज़ल पर आपकी पुर-ख़ुलूस नवाज़िशों का तह-ए-दिल से शुक्रिया…"
10 hours ago
Sushil Sarna posted a blog post

दोहा त्रयी .....

दोहा त्रयी...दुख के जंगल हैं घने , सुख की छिटकी धूप ।करम पड़ेंगे भोगने , निर्धन हो या भूप ।।धन वैभव…See More
11 hours ago
Sushil Sarna commented on लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर''s blog post शिशिर के दोहे -लक्ष्मण धामी "मुसाफिर"
"वाह आदरणीय लक्ष्मण धामी जी मौसम के अनुकूल बहुत सुंदर दोहावली का सृजन हुआ है सर ।हार्दिक बधाई सर"
15 hours ago
Sushil Sarna commented on अमीरुद्दीन 'अमीर''s blog post ग़ज़ल (जिसको हुआ गुमाँ कि 'ख़ुदा' हो गया है वो)
"वाह आदरणीय अमीरुद्दीन साहिब बहुत खूबसूरत गज़ल बनी है सर ।हार्दिक बधाई सर"
15 hours ago
Aazi Tamaam commented on लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर''s blog post शिशिर के दोहे -लक्ष्मण धामी "मुसाफिर"
"वाह वाह वाह आ धामी सर बेहद खूबसूरत दोहे हुए बधाई स्वीकार करें"
16 hours ago
Aazi Tamaam commented on Anita Maurya's blog post एक साँचे में ढाल रक्खा है
"अच्छी रचना हुई आ अनीता जी बधाई स्वीकार करें"
17 hours ago
अमीरुद्दीन 'अमीर' commented on अमीरुद्दीन 'अमीर''s blog post ग़ज़ल (जिसको हुआ गुमाँ कि 'ख़ुदा' हो गया है वो)
"मुहतरमा रचना भाटिया जी आदाब, ग़ज़ल का मतला कुछ आपत्तियों के बाद मूल रूप से बदल दिया गया है, इसलिए…"
19 hours ago
Anju Agarwal is now a member of Open Books Online
20 hours ago
Rachna Bhatia commented on अमीरुद्दीन 'अमीर''s blog post ग़ज़ल (जिसको हुआ गुमाँ कि 'ख़ुदा' हो गया है वो)
"आदरणीय अमीरुद्दीन अमीर जी अच्छी ग़ज़ल हुई है। बधाई स्वीकार करें। बहुत अधिक तो नहीं जानती फ़िर भी…"
yesterday
Rachna Bhatia commented on Rachna Bhatia's blog post ग़ज़ल- भाते हैं कम
"आदरणीय बृजेश कुमार 'ब्रज' जी, ग़ज़ल तक आने तथा सराहना करने के लिए बेहद शुक्रिय:।"
yesterday
Rachna Bhatia commented on Rachna Bhatia's blog post ग़ज़ल- भाते हैं कम
"आदरणीय अमीरुद्दीन अमीर जी, देर से जवाब देने के लिए क्षमा चाहती हूँ। ग़ज़ल तक आने तथा सराहना करने…"
yesterday

© 2022   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service