For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

लोकपाल बिल पे आप लोगों की राय चाहिए

दोस्तों लोकपाल बिल पे आप लोगों की राय चाहिए , अन्ना हजारे और सरकार के बिच जो द्वन्द युद्ध चल रहा हैं , वह देश हित में सही हैं या गलत , सही हैं तो क्यों गलत हैं तो कैसे ,

Views: 1045

Reply to This

Replies to This Discussion

Dear Ashutosh Ji

                         You are very true

aapki baton ko samarthan karta huin 

खूब.. बहुत खूब..   थम्प्स अप ...! .. हुआ?

aap khna thik hain vandana ji

गुरु जी हर तंत्र जनता के लिए है और निसंदेह आज अन्ना जनता की आवाज़ है उन्हें अनसुना नहीं किया जा sakta !!

aapne sahi kha hain arun ji

यही एक बुड्ढा हमें ताज़ा हवा लेना सिखा रहा है,
ईमान से चलना और रिश्वत ना देना सिखा रहा है,
कानून तो बियाहे हैं कुतिया की तरह गली गली,
बस अन्ना, तो खुदगर्ज़ होकर जीना सिखा रहा है

bahut badhia

मैं एक कलाकार हूँ कला अकादमी की जड़ तक भ्रष्टाचार ने अपनी पकड़ बना ली है.विगत चार वर्षों से भ्रष्टाचार को समाप्त करने का प्रयाश संबैधानिक और कानूनी तरीके से कर रहा हूँ,परन्तु परिणाम नगण्य है . हिम्मत नहीं हारा है . प्रयाश जरी है .

 

lage rahiye sir

मजबूत लोकपाल विधेयक की मांग को लेकर मंगलवार से प्रस्तावित अनशन से पहले अन्ना हज़ारे के खिलाफ लगे कांग्रेस के  आरोप सत्तारूढ़ दल की ‘घबराहट’ को दर्शाते हैं.

 ‘‘इस तरह के आरोप भ्रष्टाचार के सभी पीड़ितों तक अन्ना का आह्वान पहुंचने से कांग्रेस को जाहिरा तौर पर हुई घबराहट दर्शाते हैं.’’

 हज़ारे जैसे लोगों का होना इस देश का सौभाग्य है. हज़ारे पद्मभूषण और पद्मश्री जैसे प्रतिष्ठित राष्ट्रीय सम्मान प्राप्त कर चुके हैं, जो इस बात का पहला आधार है कि यह सब उन्हें उनकी ईमानदारी के बूते हासिल हुआ है. उन्होंने कहा कि या तो भ्रष्टाचार को कुचल दें या भ्रष्टाचार आपको कुचल दे, इसके लिये तैयार रहें. हज़ारे का 16 अगस्त को अनशन शुरू करना एक मौका है. अन्ना यहां हमेशा नहीं रहेंगे.

 

प्रधान मंत्री से लेकर सभी को चाहे वो न्यायाधीश ही क्यों ना हो सभी लोकपाल के दायरे में आना ही होगा 
हम अन्ना के साथ हैं

ham aapke bato se sahmat hain

RSS

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Blogs

Latest Activity

बृजेश कुमार 'ब्रज' commented on बृजेश कुमार 'ब्रज''s blog post ग़ज़ल-तुम्हारे प्यार के क़ाबिल
"आदरणीय नीलेश जी...आपने एक बारीक कमी की ओर ध्यान दिलाया है...उसके लिए हार्दिक धन्यवाद।दरअसल हम जैसे…"
41 seconds ago
Nilesh Shevgaonkar commented on बृजेश कुमार 'ब्रज''s blog post ग़ज़ल-तुम्हारे प्यार के क़ाबिल
"आ. बृजेश जी,मुद्दा नहीं मुद्दआ होता है अत: आप मतला पुन: कहें . मैं भी मुँह में ज़बान रखता…"
1 hour ago
Sheikh Shahzad Usmani replied to Admin's discussion "ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" अंक-80 (विषय: आकर्षण)
"तक़ाज़ा (लघुकथा) : दफ़्तर में काफ़ी काम निबटाने के बाद लिपिक बड़े बाबू दूसरे कक्ष में पहुंचे थे, तो कुछ…"
4 hours ago
Sheikh Shahzad Usmani replied to Admin's discussion "ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" अंक-80 (विषय: आकर्षण)
"वाह। बहुत ही उम्दा लिखा है आपने। शायद इस मासिक गोष्ठी में हम पहली बार आपकी रचना पढ़ रहे हैं। हार्दिक…"
4 hours ago
Sheikh Shahzad Usmani replied to Admin's discussion "ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" अंक-80 (विषय: आकर्षण)
"आदाब। इस गोष्ठी का आकर्षण बढ़ाती हुई रचना के साथ  इसका आग़ाज़करने हेतु बहुत-बहुत मुबारकबाद…"
4 hours ago
Samarth dev replied to Admin's discussion "ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" अंक-80 (विषय: आकर्षण)
"दोस्त 1 :तुझे तो कोई पुराने हिन्दी गाने सुनने वाली पसन्द होगी क्योकि खुद दिन भर सुनता है…"
11 hours ago
Rakshita Singh left a comment for Samarth dev
"Welcome !"
11 hours ago
Samarth dev is now a member of Open Books Online
11 hours ago
Rakshita Singh replied to Admin's discussion "ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" अंक-80 (विषय: आकर्षण)
"उस रोज़ तुम पर हाथ उठाते-उठाते, मैं रुक गया। अचानक ज़हन में उठा सुधा का ख़याल, मुझे खींच ले गया…"
12 hours ago
Admin replied to Admin's discussion "ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" अंक-80 (विषय: आकर्षण)
"स्वागतम"
12 hours ago
Sushil Sarna posted blog posts
12 hours ago
Sushil Sarna commented on Sushil Sarna's blog post बन्धनहीन जीवन :. . . .
"आदरणीय लक्ष्मण धामी जी सृजन के भावों को मान देने का दिल से आभार "
14 hours ago

© 2021   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service