For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

PREETAM TIWARY(PREET)'s Comments

Comment Wall (92 comments)

You need to be a member of Open Books Online to add comments!

Join Open Books Online

At 1:44am on April 27, 2015,
सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर
said…

आपको ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार की ओर से जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनायें 

At 2:44pm on August 6, 2012, Admin said…

प्रिय प्रीतम तिवारी जी, 

आपने श्री चंदर जी के  द्वारा बनाये गए कुछ कार्टून ओ बी ओ पर पोस्ट किये थे , चंदर जी ने इसके लिए विरोध दर्ज कराया है , परिणाम स्वरुप वो सारे कार्टून हटा दिए गए है और आपको चेतावनी दी जाती है कि  भविष्य में ऐसा कार्य न करें ।

एडमिन 

At 10:56am on November 28, 2011, Admin said…

आभार आपका !

At 4:10pm on November 27, 2011, Admin said…

सेवा में,
श्री प्रीतम तिवारी जी,
सदस्य
ओपन बुक्स ऑनलाइन
विषय :- बाहरी लिंक (RSS फीड) के सम्बन्ध में |

महाशय,
जैसा कि आप जानते ही होंगे कि ओ बी ओ पर बाहरी लिंक को डालना नियमानुसार गलत है, आपने किसी अन्य साईट / ब्लॉग का RSS फीड अपने प्रोफाइल पेज पर डाल रखा है, कृपया इसे अति शीघ्र हटा दे |
 
आपका
एडमिन

At 1:11pm on August 29, 2011, vijay kumar said…

thanks a lot ji

At 9:36pm on August 28, 2011, Sushant Jain 'Ankur' said…
Dhanyawad ....
At 11:11pm on August 2, 2011, Shanno Aggarwal said…
प्रीतम, शुभकामनाओं के लिये मेरा हार्दिक धन्यबाद.
At 4:16pm on July 24, 2011, Bishwajit yadav said…

preetam jee namskar

OBO jab hum join keye hai to aap log ke saath he hai.........

 

At 10:15am on July 9, 2011, Shashi Mehra said…
Thank U Tiwary ji. I'll do my best.
At 2:00pm on July 3, 2011,
सदस्य टीम प्रबंधन
Saurabh Pandey
said…

विश्वास है परस्पर सहयोग और साहचर्य बना रहेगा.

हार्दिक धन्यवाद प्रीतम भाई.

At 10:59am on June 22, 2011, Gyanendra Nath Tripathi said…

धन्यवाद

आभारी हूँ आपका |

At 3:56pm on June 8, 2011, Chandraprakash Jha said…
बहुत बहुत धन्यवाद!
At 9:01am on May 7, 2011, Keshav Bhatli said…
Thank you.
At 11:54am on April 27, 2011, Veerendra Jain said…
Wishing u a very happy birthday..Preetam ji..
At 11:24am on April 15, 2011, Chhavi Chaurasia said…
bahut bahut dhanyavad tiwari jee.
At 1:13pm on April 14, 2011, Sandeep Verma said…
thank u pritam g
At 3:31pm on April 11, 2011, Vinod Kumar Saxena said…
Aapka bahut bahut dhanyabad
At 1:18pm on April 7, 2011, nemichandpuniyachandan said…
aap dwara housala aphzai ke liye shukariya.
At 6:13am on April 6, 2011, राजेश शर्मा said…
बहुत बहुत धन्यवाद् प्रीतम जी.
At 3:03pm on April 4, 2011, वीनस केसरी said…
प्रीतम जी होली चली गई अब तो जागीये

अरुण जी वाला कमेंट उठा कर मेरे वाल पर चेप दिए ? :)

उनका नाम तो हटा देते

हा हा हा

शुक्रिया :)

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

Sushil Sarna posted a blog post

दोहा पंचक. . . . .

दोहा पंचक. . . .साथ चलेंगी नेकियाँ, छूटेगा जब हाथ । बन्दे तेरे कर्म बस , होंगे   तेरे  साथ ।।मिथ्या…See More
1 hour ago
Sushil Sarna commented on Sushil Sarna's blog post दोहा पंचक. . . . .
"जी सृजन के भावों को मान देने और त्रुटि इंगित करने का दिल से आभार । सहमत एवं संशोधित"
2 hours ago
Samar kabeer commented on Rachna Bhatia's blog post सदा - क्यों नहीं देते
"'सच्चाई अभी ज़िन्दा है जो मुल्क़ में यारो इंसाफ़ को फ़िर लोग सदा क्यों नहीं देते' ऊला यूँ…"
3 hours ago
Rachna Bhatia commented on Rachna Bhatia's blog post सदा - क्यों नहीं देते
"आदरणीय समर कबीर सर् सादर नमस्कार। सर्, "बिना डर" डीलीट होने से रह गया।क्षमा चाहती…"
3 hours ago
लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' commented on Sushil Sarna's blog post दोहा पंचक. . . . .
"आ. भाई सुशील जी, सादर अभिवादन। अच्छे दोहे हुए है। हार्दिक बधाई। लेकिन यह दोहा पंक्ति में मात्राएं…"
23 hours ago
लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' commented on Balram Dhakar's blog post ग़ज़ल : बलराम धाकड़ (पाँव कब्र में जो लटकाकर बैठे हैं।)
"आ. भाई बलराम जी, सादर अभिवादन। शंका समाधान के लिए आभार।  यदि उचित लगे तो इस पर विचार कर सकते…"
23 hours ago
Sushil Sarna posted a blog post

दोहा पंचक. . . . .

दोहा पंचक. . . .साथ चलेंगी नेकियाँ, छूटेगा जब हाथ । बन्दे तेरे कर्म बस , होंगे   तेरे  साथ ।।मिथ्या…See More
yesterday
Samar kabeer commented on Rachna Bhatia's blog post सदा - क्यों नहीं देते
"//सच्चाई अभी ज़िन्दा है जो मुल्क़ में यारो इंसाफ़ को फ़िर लोग बिना डर के सदा नहीं देते // सानी…"
yesterday
Sushil Sarna commented on Sushil Sarna's blog post दोहा मुक्तक .....
"आदरणीय लक्ष्मण धामी जी सृजन के भावों को मान देने का दिल से आभार आदरणीय जी"
yesterday
Balram Dhakar commented on Balram Dhakar's blog post ग़ज़ल : बलराम धाकड़ (पाँव कब्र में जो लटकाकर बैठे हैं।)
"आदरणीय लक्ष्मण धामी जी, सादर नमस्कार। आपकी शिरकत ग़ज़ल में हुई, प्रसन्नता हुई। आपकी आपत्ति सही है,…"
yesterday
लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' commented on Balram Dhakar's blog post ग़ज़ल : बलराम धाकड़ (पाँव कब्र में जो लटकाकर बैठे हैं।)
"आ. भाई बलराम जी, सादर अभिवादन। बेहतरीन गजल हुई है। हार्दिक बधाई।  क्या "शाइर" शब्द…"
yesterday
बृजेश कुमार 'ब्रज' posted a blog post

ग़ज़ल-रफ़ूगर

121 22 121 22 121 22 सिलाई मन की उधड़ रही साँवरे रफ़ूगर सुराख़ दिल के तमाम सिल दो अरे रफ़ूगर उदास रू…See More
yesterday

© 2023   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service